मध्यप्रदेश

“पिपल्याहाना ब्रिज 18 महीने के दावे के बाद भी 36 माह में तैयार हुआ मुख्यमंत्री बंगाली चौराहे ब्रिज की समस्या का निदान करे।

कलयुग की कलम

इन्दौर,पिपल्याहाना ब्रिज का कल 36 महीने बाद शुभारंभ मु्ख्यमंत्री कर रहे हैं।आज से 36 माह पूर्व शिलान्यास भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किया था तब दावा था की 18 महीने में ब्रिज बनाकर जनता को समर्पित कर दिया जाएगा लेकिन 36 माह में 18 माह का काम पूर्ण हुआ।अब लागत कम हुई या बड़ी यह तो फ़ाइलों में दफ़्न हो गया हैं।

म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने मुख्यमंत्री से निवेदन किया हैं की पिपल्याहाना ब्रिज के शुभारंभ के साथ ही बंगाली चौराहा ब्रिज की समस्या का निदान कर दे तो इन्दौर के निवासियों पर मेहरबानी हो जाएगी ।लगभग छह माह से कॉंग्रेस के वरिष्ठ नेता माधवराव सिंधिया की प्रतिमा को स्थानांतरित नहीं करने की वजह से ब्रिज का कार्य बंद हैं।प्रतिमा स्थानांतरित होने के बाद ही ब्रिज के पीलर खड़े हो पायेंगे तथा पीलर खड़े करने में आगामी छह माह का समय लगेगा।ट्राफिक पुलिस अनेक बार पीडब्ल्यूडी को पत्र लिखकर प्रतिमा हटाने का निवेदन करती रही हैं लेकिन सुनवाई नहीं हैं।

माननीय मुख्यमंत्री से आग्रह हैं की पिपल्याहाना ब्रिज के शुभारंभ स्थल से नगण्य दूरी पर बंगाली चौराहा ब्रिज स्थित हैं जहॉं प्रतिमा शिफ़्ट करने का स्थान तय करना हैं कल आपके ब्रिज शुभारंभ कार्यक्रम में छोटे महाराज मंत्री महोदय भी उपस्थित हैं ।इस अवसर का लाभ लेकर मुख्यमंत्री छोटे महाराज मंत्री महोदय की सहमति प्राप्त करके कॉंग्रेस के वरिष्ठ नेता माधव राव सिंधिया की मूर्ति स्थानांतरित करने का स्थान तय कराकर ब्रिज निर्माण का मार्ग प्रशस्त करें अन्यथा बंगाली चौराहा ब्रिज 2023 तक भी नहीं बन सकेगा ।उम्मीद हैं जनहित में उचित निर्णय करके इन्दौर की जनता की महत्वपूर्ण समस्या का समाधान करेंगे ।

राकेश सिंह यादव प्रदेशसचिव म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी भोपाल

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close