उत्तरप्रदेश

शहादत दिवस “वीर बाल दिवस” के रूप में साहिब श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के पुत्रों का मनाने की मांग-ब्रह्मर्षि लाल बाबा रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम समाचार पत्रिका

प्रयागराज नैनी अखिल भारतीय श्री पंच दिगंबर अनी अखाड़ा महंत श्री ठाकुर जी विराजमान भगवान लक्ष्मी नारायण मंदिर ब्रह्मर्षि लाल बाबा चैरिटेबल ट्रस्ट व्यवस्थापक सुदामा कुटी अरैल प्रयाग मार्गदर्शक मंडल संत धर्माचार्य काशी प्रांत(विहिप) ने मुख्यमंत्री को सरदार पतविंदर सिंह का पत्र पोस्ट करते हुए कहा कि साहिब श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के दोनों छोटे पुत्रों को दीवार में जिंदा चुनवा दिए जाने के ऐतिहासिक शहीदी दिवस के अवसर पर दिनांक 27 दिसंबर को”वीर बाल दिवस”घोषित किए जाने की मांग पिछले काफीविगत सालों से कर रहे हैl

ब्रह्मर्षि लाल बाबा ने मुख्यमंत्री को साहिब श्री गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के प्रकाश पर्व की तिथि संशोधित कर 20 जनवरी किए जाने हेतु निवेदन भी किया।श्री गुरु गोविंद सिंह जी के चार साहिबजादो की शहादत के इतिहास को सरकारी विद्यालयों में पढ़ाए जाने की मांग की l भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा काशी क्षेत्र, क्षेत्रीय मंत्री, मंडल प्रभारी, प्रयागराज कमिश्नरी प्रभारी सरदार पतविंदर सिंह ने मुख्यमंत्री से सरकारी विद्यालय में इनके शहादत के इतिहास को हाईस्कूल,इंटर के पाठ्यक्रम में शामिल करने तथा चारों साहिबजादो के बलिदान दिवस को “वीर बाल दिवस” के रूप में मनाने की मांग की है सिखों के गौरवशाली इतिहास को आने वाली पीढ़ी के लिए संजोए रखने को प्रयागराज में म्यूजियम की स्थापना की जाए lइसके साथ ही सिखों के लिए उपयोगी पोर्टल बनाया जाए मुख्यमंत्री को पत्र के माध्यम से अवगत कराते हुएl

ब्रह्मर्षि लाल बाबा ने बताया कि सिखों के परंपरागत खेल गतका (सिख मार्शल आर्ट) को ओलंपिक खेलों में शामिल कर लिया गया है लेकिन अभी तक इसका परीक्षण उत्तर प्रदेश में शुरू नहीं किया गया है इसके लिए परीक्षण कराए जाने की भी मांग की हैl

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close