मध्यप्रदेश

किसान बिल के विरोध मे संयुक्त किसान मोर्चा ने धरना देकर कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कलयुग की कलम समाचार पत्रिका

सीएम के आगमन पूर्व विरोध स्वरूप गांव-गांव होगा पुतला दहन

कलयुग की कलम

रीवा 14 दिसम्बर 2020/संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजक शिव सिंह एडवोकेट ने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा पारित किसान बिलों को वापस कराये जाने राष्ट्रव्यापी आवाहन पर म0प्र0 के अन्दर रीवा जिले में किसान संगठनों सहित राजनैतिक दलों एवं सामाजिक संगठनों द्वारा धरना रैली कर महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन कलेक्टर रीवा को सौंपा गया किसानों ने चेतावनी दते हुये कहा कि सरकार यदि बिल वापस नही लेगी तो किसान संसद मे घुस कर सरकार को बाहर करने का काम करेगा। धरना ज्ञापन दौरान कामरेड प्रमोद प्रधान राष्ट्रीय किसान मजदूर यूनियन के नेता भागवत पाण्डेय, सपा प्रदेश सचिव रामायण सिंह, भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष किसान सुब्रत मणि संयुक्त किसान मोर्चा के संयोजक शिव सिंह, किसान नेता कांग्रेस प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कुंवर सिंह, किसान सभा के नेता रामजीत सिंह, शहीद राघवेन्द्र सिंह संघर्ष समिति के अध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह शंखू, भारतीय किसान यूनियन टिकैत के अध्यक्ष अनिल सिंह पिन्टू, समग्र उत्थान पार्टी के नेता शिव कुमार मिश्रा बाबा, कामरेड अमित सोहगौरा, कामरेड संजय निगम, राष्ट्रीय किसान मजदूर यूनियन के अध्यक्ष शोभनाथ कुशवाहा कामरेड विद्याशंकर मुफलिस सपा नेता एम.डी. खान, इन्द्रभान यादव, समाजवादी नेता इन्द्रजीत सिंह मुंशी, समाजसेवी विश्वनाथ पटेल चोटीवाला समाजसेवी प्रदीप पांडे पूर्व सरपंच देवेंद्र पाठक किसान नेता रामनरेश सिंह, किसान नेता लालमणि त्रिपाठी आरटीआई एक्टिविस्ट शिवानंद द्विवेदी किसान नेता आदित्य त्रिपाठी महेन्द्र सिंह उमेश पटेल, दलवीर सिंह छोटू, शिवपाल सिंह, रामनारायण सिंह, संतोष सिंह, बिहारीलाल सिंह, किसान नेता अजय सिंह अमिलकी किसान नेता अनिल सिंह कुठिला रमेश सिंह जगदीश प्रसाद मिश्रा रामचंद्र सिंह रमाकांत पांडे समय लाल सिंह विष्णु नारायण द्विवेदी अनिल त्रिपाठी राकेश सिंह संदीप पांडे श्याम कुमार गौतम हर्षवर्धन सिंह तिवारी श्रवण मिश्रा मृगेंद्र सिंह लक्ष्मण प्रसाद पटेल बाल्मीकि पटेल जय भान सिंह पप्पू शुक्ला कमलेश यादव सहित हजारों आन्दोलनकारी मौजूद रहे।

सीएम के आने के पूर्व विरोध स्वरूप जिले में किया जाएगा पुतला दहन

==================

किसान नेताओं ने कहा केंद्र सरकार की तर्ज पर शिवराज सरकार द्वारा किसानों का लगातार दमन उत्पीड़न किया जा रहा है 6 बार की मीटिंग में भी सरकार किसानों का भ्रम दूर नहीं कर सकी उल्टा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह किसानों को भ्रमित एवं गुमराह करने रीवा आ रहे हैं जिसके विरोध में 15 दिसंबर को सीएम के आगमन के पूर्व समूचे जिले में पुतला दहन किया जाएगा

सीएम के आगमन की अनुमति के विरोध में सौंपा ज्ञापन

किसान नेताओं ने कहा कि 16 दिसंबर को मुख्यमंत्री के आगमन पर मीडिया के हवाले से यह ज्ञात हुआ कि भाजपा सरकार संभाग स्तर पर एनसीसी ग्राउंड रीवा में 25000 किसानों को बुलाने का बयान जारी किया है जिसको लेकर किसानों ने जिला प्रशासन पर आरोप लगाया कि 27 नवंबर को करहिया गल्ला मंडी रीवा में किसानों के कार्यक्रम के लिए सिर्फ 20 लोगों की अनुमति दी गई थी इसलिए मुख्यमंत्री के सभा के लिए भी 20 से ज्यादा लोगों को अनुमति न दिया जाए इस संबंध में संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने लिखित में एसडीएम हुजूर के नाम ज्ञापन देकर विरोध किया है अन्यथा अनुमति दिए जाने पर व्यापक विरोध किया जाएगा

रामजीत सिंह

किसान नेता

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close