उत्तरप्रदेश

डाक विभाग द्वारा किये जा रहे कार्यों/स्कीमों का जन-जन तक पहुंचाना हमारी प्राथमिकता-मा0 मंत्री  रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

दैनिक कलयुग की कलम न्यूज वेबसाइट

कोरोना काल में डाक विभाग/पोस्टल विभाग द्वारा किये गये कार्य सराहनीय

प्रयागराज श्री संजय धोत्रे मा0 शिक्षा, संचार एवं इलेक्ट्राॅनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री, भारत सरकार ने उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल के इलाहाबाद परिक्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान मा0 सांसद फूलपुर-श्रीमती केशरी देवी पटेल, श्री कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा, चीफ पोस्टरमास्टर जनरल, उत्तर प्रदेश परिमण्डल श्री सुवेन्दु कुमार स्वैन, पोस्टरमास्टर जनरल, इलाहाबाद परिक्षेत्र तथा डाक विभाग के अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। मा0 मंत्री ने राजस्व और परिवहन के विभिन्न मानकों पर उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल के निष्पादन की समीक्षा की और बेहतर निष्पादन के लिए निर्देशित किया। मा0 मंत्री जी ने उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल में ‘‘5 स्टार विलेज’’ योजना के अन्तर्गत आच्छादित गांवों के नाम की घोषणा की। डाक विभाग ने सुदूर ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगो को अपनी योजनाओं से शत-प्रतिशत जोड़ने के लिये इस योजना की शुरूआत की। इसका लक्ष्य डाकघर द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं के माध्यम से ग्रामीण लोगों का वित्तीय समावेशन करना है। इसके अन्तर्गत डाकघर बचत बैंक/आवर्ती जमा/राष्ट्रीय बचत पत्र/किसान विकास पत्र, सुकन्या समृद्धि खाता, पीपीएफ, ग्रामीण डाक जीवन बीमा, डाक जीवन बीमा, इण्डिया पोस्ट पेमेण्ट बैंक, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना से गांवों को शत-प्रतिशत आच्छादित करने का लक्ष्य रखा गया है। उपरोक्त वर्णित योजनाओं से शत-प्रतिशत आच्छादित किसी गांव को ‘‘5 स्टार विलेज’’ का दर्जा दिया जायेगा। कार्यक्रम में मा0 प्रधानमंत्री जी की महात्वाकांक्षी परियोजना ‘‘बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं’’ के अन्तर्गत डाक विभाग द्वारा संचालित सुकन्या समृद्धि योजना की लाभार्थी बच्चियों को मा0 मंत्री जी द्वारा पुस्तकें प्रदान की गयी। मा0 मंत्री जी ने सिनियर सिटीजेन वेलफेयर फंड के लाभार्थिंयों को चेक प्रदान किया और डाकघर बचत योजनाओं से जुड़ने का आह्वाहन किया। उन्होंने कहा कि एक सेवा प्रदाता क्षेत्र के रूप में उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल अपने ग्राहकों को सदैव बेहतर सेवा देने के लिये प्रतिबद्ध है। चाहे कल्याण राज्य की अवधारणा हो या सुशासन का ध्येय हो या डिजिटल भारत बनाने का सपना हो उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने इस दिशा में अभूतपूर्व कार्य किया है। उन्होंने कोविउ लाॅकडाउन के दौरान डाक विभाग की भूमिका पर विशेष जोर दिया और बताया कि डाक विभाग ने आधार इनबेल्ड पेमेंट सिस्टम प्रणाली के माध्यम से लाॅकडाउन के दौरान लोगों के घर-घर जाकर नगदी उपलब्ध करायी। मा0 मंत्री जी ने बताया कि उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने लाॅकडाउन के दौरान विभिन्न दवा एजेंसियों/ई-कार्मस कंपरियों से अनुबंध करते हुए दवाओं, टेस्टिंग किट(कोविड-19 टेस्टिंग किट), पीपीई किट इत्यादि को अस्पतालों तथा मेडिकल स्टोरों को पहुंचाया। लाॅकडाउन के प्रथम चरण में जुलाई तक उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने 47 करोड़ आर्टिकल्स का वितरण किया। 1.06 करोड़ आर्टिकल्स को बुक किया और 41.15 करोड़ रूपये का राजस्व अर्जित किया। उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने लगभग 100 टन से अधिक आवश्यक वस्तुओं की बुकिंग की तथा उनका वितरण भी सुनिश्चित कराया। उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने इस वित्तीय वर्ष में नवम्बर-2020 तक 3.13 करोड़ आर्टिकल्स की बुकिंग की, 1.99 करोड़ आर्टिकल्स का वितरण किया और लगभग 136.44 करोड़ का राजस्व अर्जित किया। मा0 मंत्री जी ने बताया कि उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने स्वास्थ्य विभाग उत्तर प्रदेश सरकार के साथ एक अनुबंध किया है, जो उत्तर प्रदेश को प्रथम टीबी मुक्त राज्य बनाने के मा0 मुख्यमंत्री जी के ध्येय में सहायक होगा। उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल टीबी के नमूने स्वास्थ्य विभाग की प्रयोगशालाओं से एकत्रित कर रहा है और उसी जिले में स्थित जांच प्रयोगशालाओं को 24 घण्टे के भीतर व अन्य जिलों में 48 घण्टे के भीतर वितरित कर रहा है। कोविड-19 महामारी की रोकथाम के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश डाक परिमण्डल ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम वर्ग के उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये मेघदूत ग्रामोद्योग सेवा संस्थान के साथ एक अनुबंध पर हस्ताक्षर किये हैं। इसके अन्तर्गत डाकघरों में उचित मूल्य पर हैण्ड सैनेटाइजर और अन्य आयुर्वेदिक उत्पादों की बिक्री की जा रही है। इस समय राज्य में 1425 आधार रजिस्टेªशन और अद्यतन केन्द्र कार्यान्वित है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर, 2020 तक लगभग 1655391 आधार ट्रांजैक्शन्स किये जा चुके है। नागरिक आधारित विभिन्न सेवाओं को प्रदान करने के लिये 639 डाकघरों में काॅमन सर्विस सेंटर की स्थापना की गयी है। राज्य के 48 डाकघरों में पासपोर्ट सेवा केन्द्र स्थापित किये गये है। इस सुविधा ने पासपोर्ट के लिये आवेदन करने की प्रक्रिया को सरल बनाया है। अब कोई भी नागरिक नजदीकी डाकघर पासपोर्ट सेवा केन्द्र जाकर सेवा का लाभ ले सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close