प्रयागराज

कूर्मि समाज के प्रमुख और सबसे पुराने 1894 ई भारत में स्थापित अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा कि आनलाईन मीटिंग पिछले महीने 20 और 23 सितंबर 2020 को राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के कार्यकारिणी समिति के पदाधिकारियों के मांग पर की गई।

सुभाष चंद्र पटेल रिपोर्टर नैनी

कूर्मि समाज के प्रमुख और सबसे पुराने 1894 ई भारत में स्थापित अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा कि आनलाईन मीटिंग पिछले महीने 20 और 23 सितंबर 2020 को राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के कार्यकारिणी समिति के पदाधिकारियों के मांग पर की गई। जिसमें सर्वेश कुमार कटियार द्वारा अहंकार में आकर महासभा और कूर्मि समाज के हितों के विरूद्ध असंवैधानिक,

बिखंडनकारी और अवैध काम करने के कारण सर्वेश कुमार कटियार को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से मुक्त करते हुए महासभा के सभी राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के कमिटियों को भंग कर दिया गया। ऐसे में यूपी के बांदा जिले के चित्रकुट में 20-22 नवम्बर 2020 को सर्वेश कुमार कटियार (पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष) द्वारा राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति की बैठक आयोजित करने की कोशिश पूर्णतः हास्यास्पद,गैरकानूनी, असंवैधानिक और अवैध है। यूपी समेत देश के कूर्मि समाज के लोग खुद विचार करें कि जो सर्वेश अध्यक्ष पद पर रहते हुए 2011 से जून 2020 तक कोई भी नियुक्ति नहीं किये,किसी भी कूर्मि समाज के लोगों को महासभा के सदस्य नहीं बनाये, किसी कूर्मि मित्र के लिए कोई काम नहीं आये ,उन्हें मदद नहीं की वे सर्वेश अचानक कैसे राष्ट्रीय महासचिव आर एस कनौजिया जी को 09.07.2020 को असंवैधानिक और अवैध निष्कासन के बाद से सक्रिय हो गये? इस पर यूपी और देश के भोले भाले कूर्मि समाज के लोगों को गम्भीरता पूर्वक विचार करना चाहिए। यूपी और देश के विभिन्न राज्यों के कूर्मि समाज के लोग सर्वेश कुमार कटियार के किसी भी झांसा, सब्जबाग में आकर चित्रकुट के तथाकथित राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल नहीं हों। नहीं तो सर्वेश कुमार कूर्मि समाज के लोगों की उपस्थिति का गलत फायदा निश्चित रूप से उठाएंगे। यूपी समेत देश के कूर्मि समाज के लोग बहुत वर्षों से सर्वेश कुमार कटियार द्वारा बिना कोई महासभा और कूर्मि समाज के विकास और मजबूती के लिए काम किये राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर बैठे रहने से यूपी समेत देश के अन्य राज्यों कूर्मि समाज लोग खुद को किंकर्तव्यविमूढ़,ठगा महसूस करतें रहें और सवाल करते रहें कि जब सर्वेश कुमार कोई काम नहीं कर सकते हैं तो पद पर कब्जा जमाकर आखिर अब तक क्यों बैठे रहे ? ज्ञात हो कि अपने पिताजी स्व उमाशंकर कटियार जी के महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष 2008 से 2011 निधन तक बने रहने के बाद उमाशंकर कटियार जी के निधन के बाद महासभा पर ऐन केन प्रकारेन उनके पुत्र सर्वेश कुमार कटियार(कानपुर,यूपी) ने

2011 में कब्जा कर लिया ।तब से सर्वेश लगातार महासभा और कूर्मि समाज के विकास और मजबूती के बिना और बिना कोई काम किये राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर कुंडली मारकर बैठे रहें और अहंकार में आकर अपनी मनमानी करते रहें। पर जब अंदर और बाहर से सर्वेश के खिलाफ आवाज उठनें लगी तो आवाज उठाने वाले कूर्मि समाज के लोगों को सर्वेश कटियार महासभा से हटाने, बर्खास्त करने या उन्हें किनारे लगाने की बिखंडनकारी दुस्साहस करने लगे ताकि अपने पिताजी की तरह आजीवन महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद पर बने रह सकें।

ज्ञातव्य हो कि सर्वेश कुमार कटियार ने अपने अहंकार में आकर मनमानी करते हुए मई में नव नियुक्त राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष संजय वर्मा( लखनऊ निवासी) एवं भोपाल के 16,17 नवम्बर 2019 के राष्ट्रीय अधिवेशन में आम सभा द्वारा चुने गये राष्ट्रीय महासचिव आर एस कनौजिया (नागपुर निवासी) उनके पदों से बर्खास्त करने के पत्र सोशल मीडिया पर जारी करके अपमानित करने, भोपाल के राष्ट्रीय अधिवेशन में चुने गये राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी -कूर्मि कौशल किशोर आर्य(मुम्बई, महाराष्ट्र) के बारे में सोशल मीडिया पर अपमान जनक अशोभनीय टिप्पणी कराके पोस्ट प्रसारित करने,वरिष्ट राष्ट्रीय उपाध्यक्ष- सुदामा प्रसाद अकेला(कानपुर यूपी ) को अपने घर पर बुलाकर भाग जाने के लिए कहते हुए अपमानित करने व उनसे सदस्यता रसीद -अन्य आवश्यक कागजात जबरन लेने, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह कई राज्यों

के प्रदेश प्रभारी – जंग बहादुर पटेल(बाराबंकी,यूपी) को यूपी के प्रदेश प्रभारी पद से त्याग पत्र देने के लिए दबाव बनाने समेत महासभा को अपना प्राइवेट लिमिटेड कंपनी समझकर मनमानी करके अपने रिश्तेदारों और उनके समर्थकों की नियुक्ति हाल के जून 2020 के बाद लगातार पदाधिकारी के रूप में करने तथा महासभा के राष्ट्रीय विभिन्न पदाधिकारियों के बारें में सोशल मीडिया पर नित्य आय दिन अपमान जनक अशोभनीय पोस्ट प्रसारित करके/कराके महासभा की गरिमा को धूमिल करने के कारण तथा महासभा के पदाधिकारी गण द्वारा समझाने पर भी बात नहीं मानने के कारण 20 और 23 सितम्बर 2020 के आॅनलाईन मीटिंग में राष्ट्रीय अध्यक्ष सर्वेश कुमार कटियार को 22 राज्यों के राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के पदाधिकारी गण के द्वारा गम्भीरता पूर्वक विचार विमर्श के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से बर्खास्त करते हुए महासभा के सभी राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के कमिटियों को भंग कर दिया गया।

मीटिंग में सर्वेश कुमार कटियार द्वारा लगातार महासभा और कूर्मि समाज के हितों के विरूद्ध किये जा रहे असंवैधानिक और अवैध कार्यों पर विचार विमर्श करने के उपरान्त सर्वसम्मति से रायपुर छतीसगढ़ निवासी समाज सेवी माननीय श्री नन्दकुमार बघेल जी(छतीसगढ़ के मुख्यमंत्री माननीय श्री भूपेश बघेल जी के पिताजी) को कार्यवाहक राष्ट्रीय अध्यक्ष मनोनीत किया गया।

विचार विमर्श करने के उपरान्त महासभा के क्रियाकलाप/रूपरेखा का जारी रखने के लिए अगले आम सभा में चुनाव होने तक आर एस कनौजिया (राष्ट्रीय महासचिव,नागपुर महाराष्ट्र ) और कूर्मि कौशल किशोर आर्य (राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी,मुम्बई,महाराष्ट्र) को अपने पदों की जवाबदेही निभातें रहने के लिए आग्रह किया गया। शेष सभी राष्ट्रीय और प्रदेश स्तर के पदों को महासभा के भंग होने के साथ ही नियमानुसार निरस्त कर दिया गया। साथ अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा और कूर्मि समाज को मजबूत करने के लिए राष्ट्रीय अधिवेशन 03 एवं 04 मार्च 2021 को रायपुर (छतीसगढ़) में आयोजित करने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। जिसकी तैयारी जोर शोर से की जा रही है।

 

 

कूर्मि कौशल किशोर आर्य

राष्ट्रीयमीडिया प्रभारी

अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा

मोबाइल नं 9322358599

आरएस कनौजिया

राष्ट्रीय महासचिव

अखिलभारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा

मोबाइल नं. 8999610068

नन्दकुमारबघेल

राष्ट्रीय कार्यवाहक अध्यक्ष

अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा

मोबाइल नं. 9406206890

जंगबहादुरपटेल

राष्ट्रीयउपाध्यक्ष

अखिल भारतीय कूर्मि क्षत्रिय महासभा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close