UNCATEGORIZED

आधे गांव दीवाली आधे गांव होली का एहसास कराता है कलेक्टर का फरमान

अश्वनी बड़गैंया, अधिवक्ता स्वतंत्र पत्रकार

आधे गांव दीवाली आधे गांव होली का एहसास कराता है कलेक्टर का फरमान

राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) नईदिल्ली के एक आदेश का हवाला देते हुए कटनी कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट शशिभूषण सिंह ने जिले दीपावली के अवसर पर पटाखों के उपयोग से ज़िले में वायु प्रदूषण की स्थिति खराब होने से बचाने के लिए कटनी नगर निगम सीमा में पटाखों की बिक्री और उपयोग पर प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी कर दिया है ।

आदेश में कहा गया है कि कटनी जिले की ए क्यू आई 346 हो गई है । पटाखों के उपयोग से परिवेशीय वायु गुणवत्ता और अधिक खराब होगी ।

सवाल उठना स्वाभाविक है कि क्या केवल कटनी नगर निगम सीमा के अंदर पटाखों के उपयोग से ही वायु प्रदूषण की हालत बदतर होगी नगर निगम सीमा से लगे हुए क्षेत्रों में पटाखों के उपयोग से नहीं ?

पटाखों का विक्रय और उपयोग प्रतिबंधित करना ही है तो ज़िलेभर में किया जाना चाहिए था न कि केवल कटनी नगर निगम सीमा के भीतर । यह आदेश पूरी तरह से कटनी नगर निगम के भीतर रहने वालों के लिए पक्षपाती, धार्मिक भावनाओं पर कुठाराघात करने वाला प्रतीत हो रहा है ।

कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट शशिभूषण सिंह को अपने आदेश पर पुनर्विचार करते हुए “आधे गांव दीवाली आधे गांव फाग(होली) का एहसास कराते आदेश को पुनरीक्षित करना चाहिए ।

पटाखों का विक्रय और उपयोग या तो जिलेभर में प्रतिबंधित किया जाय या फ़िर नहीं किया जाय । केवल कटनी नगर निगम सीमा के अंदर पटाखों की बिक्री और उपयोग प्रतिबंधित करना किसी भी दृष्टिकोण से न्यायोचित नहीं कहा जा सकता है ।

अश्वनी बड़गैंया, अधिवक्ता स्वतंत्र पत्रकार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close