स्वतंत्र विचार

क्या आप इनमें से किसी को भी जानते हैं ?

कलयुग की कलम

क्या आप इनमें से किसी को भी जानते हैं ?

1. सोमाभाई मोदी (75 वर्ष) सेवानिवृत्त स्वास्थ्य अधिकारी, *वर्तमान में गुजरात में भर्ती प्रक्रिया में अध्यक्ष हैं।

2. अमृतभाई मोदी (72 वर्ष) जो एक निजी कारखाने में कार्यरत थे, *आज वर्तमान में सेवानिवृत्त हैं, अहमदाबाद और गांधीनगर में सबसे बडे़ रियल एस्टेट कारोबारी हैं।

3. प्रह्लाद मोदी (64 वर्ष) की राशन की दुकान थी और आज वर्तमान में अहमदाबाद, वडोदरा में हुंडई, मारुति और होंडा फोर व्हीलर शो रूम है।

4. पंकज मोदी (58 वर्ष) सूचना विभाग में नौकरी, आज गुजरात में भर्ती प्रक्रिया में सोमा भाई के साथ उपाध्यक्ष है।

5. भोगीलाल मोदी (67 वर्ष) जो किराने की दुकान के मालिक हैं आज वर्तमान में अहमदाबाद, सूरत और वडोदरा में रिलायंस मॉल है।

6. अरविंद मोदी (64 वर्ष) स्क्रैप का व्यवसाय था, आज वर्तमान में प्रमुख निर्माण कंपनियों को स्टील की आपूर्ति और रीयल एस्टेट के नामी गिरामी ठेकेदार हैं।

7.भरत मोदी (55 वर्ष) एक पेट्रोल पंप पर काम कर रहे थे। आज वर्तमान में अहमदाबाद, गांधीनगर में अगियारस पेट्रोल पंप के मालिक हैं।

8. अशोक मोदी (51 वर्ष) के पास पतंग और किराने की दुकान थी। आज वर्तमान में वह रिलायंस में भोगीलाल मोदी के साथ साझेदारी कर रहे हैं।

9. चन्द्रकांत मोदी (48 वर्ष) गौशाला में काम कर रहे थे। आज वर्तमान में अहमदाबाद, गांधीनगर में नौ बड़े और शानदार डेयरी उत्पादन केन्द्र है।

10. रमेश मोदी (६४ वर्ष) जो एक शिक्षक के रूप में काम कर रहा था आज वर्तमान में वह पांच स्कूलों और तीन इंजीनियरिंग, आयुर्वेद, होम्योपैथी, फिजियोथेरेपी कॉलेज और एक मेडिकल कॉलेज का मालिक है।

11). भार्गव मोदी (44 वर्ष) जो ट्यूशन क्लास में काम कर रहे थे। आज वर्तमान में कॉलेजों में रमेश मोदी के साथ भागीदारी हैं।

12. बिपिन मोदी (42 वर्ष) अहमदाबाद लाइब्रेरी में काम करते थे आज वर्तमान में केजी से मानक बारह तक पुस्तक प्रकाशकों के साथ एक साझेदारी है।

नंबर 1 से 4 ऊपर, प्रधानमंत्री मोदी के सगे भाई हैं।

No. 5 से 9, मोदी के चचेरे भाई नरसिंहदास मोदी के बेटे हैं। वह प्रधानमंत्री का चचेरा भाई है।

नंबर 10 जगजीवनदास मोदी के बेटे रमेश, नंबर 11 भार्गव कांतिलाल के चाचा के बेटे, आखिरी बिपिन, प्रधान मंत्री के सबसे छोटे चाचा जयंतीलाल मोदी के बेटे हैं।

जी हाँ, ये है हमारे प्रधानमंत्री जी का परिवारवाद-विस्तार। बस फर्क ये है कि राजनीति में नहीं है परंतु सारे के सारे इतने काबिल तो नहीं हो सकते की सब अरबपति हो इनसभी को नरेंद्र मोदी ने लाभ तो अवश्य दिया है हां इन सबपर मीडिया बात नहीं करेगी ना। साहेब की फकीरी वाली छवि धूमिल जो होगी..

परंतु कोई बात नहीं, हम अपने शोधकर्ताओं के माध्यम से मोदी के परिवारवाद का बहीखाता निकाल लाये हैं..

और बाकीयों का भी जल्द से जल्द लाएंगे।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close