प्रयागराज

कार्य में हुई लापरवाही तो अधिकारियों पर होगी कार्रवाई DM @ रिपोर्ट सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम

विकास कार्यों की समीक्षा बैठक सम्पन्न

विकास कार्यों में लापरवाही या उदासीनता किसी भी स्तर पर क्षम्य नहीं

कलयुग की कलम

प्रयागराज जिलाधिकारी भानु चन्द्र गोस्वामी की अध्यक्षता में बुधवार को संगम सभागार में 37 विकास प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों की प्रगति के सम्बंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने सभी सम्बंधित विभागों के अधिकारियों को हिदायत देते हुए कहा है कि कार्यों में लापरवाही या उदासीनता किसी भी स्तर पर क्षम्य नहीं है। कार्यों में लापरवाही या उदासीनता पाये जाने पर सम्बंधित अधिकारी के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने सभी कार्यदायी संस्थाओं को ससमय कार्य को पूर्ण करने का निर्देश दिया। समय से कार्य पूर्ण नहीं होने पर सम्बंधित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी।

जिलाधिकारी ने उर्जा विभाग की समीक्षा करते हुए सरकारी विभागों में विद्युत बकायें की अद्यतन स्थिति की जानकारी ली। विद्युत बकायें की सही जानकारी न दे पाने पर एवं पिछली बैठक में निर्देशित करने के बाद भी उचित कार्यवाही न कर पाने पर जिलाधिकारी ने अधिशाषी अभियंता विद्युत विभाग को कठोर चेतावनी जारी करते हुए चेताया कि ऐसी लापरवाही क्षम्य नहीं की जायेगी। लोक निर्माण विभाग के कार्यों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने राजमार्गों की अनुरक्षण की स्थिति के सम्बंध में सम्बंधित अधिकारियों से जानकारी ली और निर्देशित किया कि सड़क के गड़ढ़ों को तत्काल भर दिया जाये। उन्होंने ग्राम विकास अधिकारियों को निर्देशित किया कि जहां कहीं भी उनके क्षेत्र में सड़कों पर गड़ढे है, उसकी जानकारी पत्र के माध्यम से उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि समय से वी0डी0ओ0 द्वारा जानकारी न दिए जाने पर सम्बंधित के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जायेगी। सेतुओं के निर्माण के सम्बंध में जानकारी लेते हुए फूलपुर व मेजा में चल रहे सेतु निर्माण के कार्यों को ससमय पूरा करने के निर्देश दिये। कृषि विभाग की समीक्षा करते हुए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना एवं प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरतने के लिए कहा है। पशुधन विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने समय से निराश्रित पशुओं के टीकाकरण एवं गोवंशीय पशुओं की इयर टैगिंग के कार्य को पूरा कराने के सख्त निर्देश दिये। साथ ही निराश्रित गोवंश के लिए चलाये जा रहे प्राइवेट गौशालाओं से सम्पर्क स्थापित कर पशुओं को वहां भिजवाने की व्यवस्था करें। उन्होंने वी0डी0ओ0 को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि किसी भी क्षेत्र में पराली जलने की घटना होने पर सम्बंधित क्षेत्र के वी0डी0ओ0 के खिलाफ भी कार्रवाई की जायेगी। पराली प्रबंधन के लिए मनरेगा के तहत गड़ढ़े खोद कर कम्पोस्ट खाद बनाये जाने के लिए गांव के प्रधानों को प्रेरित किया जाये। इसकी मानीटरिंग मुख्य विकास अधिकारी के द्वारा की जाये। पंचायतीराज विभाग के द्वारा आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत कराये जाने वाले कार्यों की समीक्षा करते हुए कहा कि इस समय सभी स्कूल बंद है। उन्होंने इसका लाभ उठाकर विद्यालयों में कराये जाने वाले निर्माण कार्य को समय से पूरा कर ले। विद्यालय के अंदर टाइल्स लगाने का हर-हाल में दिसम्बर माह तक पूरा कर ले साथ ही बांउड्रीवाॅल एवं शौचालय, पानी का कार्य 100 प्रतिशत नवम्बर माह तक पूरा करा ले। ग्राम विकास विभाग के द्वारा कराये जा रहे प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के बारे में जानकारी लेते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जो लाभार्थी भूमिहीन है, उनका सर्वे कर उनकी सूची तत्काल सम्बंधित एसडीएम को उपलब्ध करा दे, जिससे कि आगे की कार्यवाही की जा सके। खाद्य एवं रसद विभाग की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत आधार सीडिंग एवं प्रमाणीकरण के माध्यम से खाद्यान्न का वितरण सुनिश्चित कराने के लिए कहा। समाज कल्याण विभाग की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना एवं वृद्धा पेंशन योजना की प्रगति की जानकारी ली। जिलाधिकारी ने विधवा पेंशन, दिव्यांगजन पेंशन, श्रम विभाग की समीक्षा में श्रमिक पंजीयन, अधिष्ठान पंजीयन एवं उपकर संग्रहण, प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना की प्रगति की समीक्षा की और कहा कि पेंशन का कोई भी कार्य शेष नहीं रहना चाहिए साथ ही वृद्धावस्था पेंशन की जानकारी लेने पर बताया गया कि वी0डी0ओ0 स्तर पर ज्यादातर प्रकरण लम्बित है, इस पर नाराजगी जताते हुए सभी सम्बंधित वी0डी0ओ0 को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि हरहाल में 5 नवम्बर तक आयें आवेदनों को दीवाली के पहले निस्तारित किया जाये। जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मुख्यमंत्री आवास के निर्माण कार्यों को शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी- आशीष कुमार, जिला विकास अधिकारी- ए0के0 मौर्या, अर्थ संख्ययिकी अधिकारी- प्रेमचन्द्र मौर्या, पी0डी0डी0आर0डी0ए0- के0के0 सिंह सहित सभी सम्बंधित अधिकारीगण मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close