प्रयागराज

प्रयागराज में फिल्मों को राज्य सरकार प्रोत्साहितकरें @ रिपोर्ट सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम

फिल्म सिटी की एनेक्शी बनवाने एवं शिक्षा विभाग के बंद पड़े चलचित्र केंद्र को पुनः चालू करने हेतु साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्थाएं हुई एकजुट

कलयुग की कलम

प्रयागराज सांस्कृतिक साहित्यिक, फिल्म रंगकर्म से जुड़े लोगों और सामाजिक संस्थाओं की एक बैठक सिविल लाइन्स में आयोजित की गयी | जिसमे आज सर्वसम्मति से फिल्म सिटी की एनेक्सी प्रयागराज में खोलने तथा शिक्षा विभाग का बंद स्टूडियो को चालू कराने, वहां रखी मशीनों को संग्रहालय में तब्दील करने का प्रस्ताव पारित किया गया। फिल्म से जुड़े लोगों ने एक स्वर से मांग की कि प्रयागराज में फिल्मों को राज्य सरकार प्रोत्साहित करें जिससे हजारों बेरोजगार युवकों को काम मिल जाएगा । “अभियान अस्मिता का” अभियान विरासत के मान का,”के तहत प्रयागराज की विरासत को लौटाने के लिए यहां के कलाकारों खासतौर से फिल्म में जुड़े लोगों ने अपने अनुभव साझा किए । रक्तांचल के स्क्रिप्ट राइटर सर्वेश दीनानाथ उपाध्याय ने कहा कि प्रयागराज में अगर फिल्में बनती हैं तो सस्ती बनेगी। बनारस और लखनऊ से ज्यादा कलाकार और शूटिंग लोकेशन प्रयागराज में है लेकिन अभी यहां पर हम मानसिक रूप से इस कार्य के लिए तैयार नहीं हुए हैं । अगर सरकार की ओर से यहां प्रोत्साहन मिलता है तो यहां भी बनारस से ज्यादा फिल्में शूट हो सकती हैं। यहां के लगभग 10,000 कलाकार फिल्म लाइन में मुंबई में है वह भी यह भाव रखते हैं कि उनके गृह नगर में फिल्में बने लेकिन अभी ऐसा माहौल हॉल नहीं है।

वक्ताओं ने कहा किपहाड़ नदी कलाकार साहित्यकार और तकनीशियन उपलब्ध है ऐसी दशा में फिल्म बंधु का कोई अधिकारी यहां बैठता है तो फिल्मों के प्रोडक्शन में तेजी आएगी और यहां के युवकों को रोजगार मिलेगा। फिल्म लाइन से जुड़े ज्ञानेश कमल, वरुण अमित मिश्रा मनोज जी पल्लवी चंदेल नाजिम अजय शर्मा अरविंद पांडे आदि ने फिल्म प्रोडक्शन से जुड़ी समस्याओं को गिनाया नवनीत श्रीवास्तव आदि कैसे इस कार्य को आगे बढ़ाया जाए इस पर अपनी राय रखी । कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ प्रमोद शुक्ला ने की । फिल्म निर्देशक वरुण जी ने प्रस्ताव रखा कि फिल्म लाइन से जुड़े सभी लोगों की एक डायरेक्टरी बनाई जाए जो आपस में सहयोग करके कम लागत की फिल्में बनायें। इस पूरे संवाद कार्यक्रम का संचालन वीरेंद्र पाठक ने किया । फिल्म और कला से जुड़े कई वरिष्ठ लोग फोन के जरिए इस संवाद कार्यक्रम में भाग लिया जिसमें महेश चट्टोपाध्याय जी वह डॉक्टर हेरम्ब चतुर्वेदी शामिल रहे। संवाद कार्यक्रम में सभी ने एक कोऑर्डिनेशन कमेटी बनाने का निर्णय लिया । कार्यक्रम में प्रयागराज के 34 संस्थाओं के लोगों सहित मुख्य रूप से डाक्टर प्रमोद शुक्ला, नाजिम अंसारी, प्रदीप तिवारी, सर्वेश दीनानाथ उपाध्याय, संतोष त्रिपाठी, अजय शर्मा, पल्लवी चंदेल, अमित मिश्रा, अमित बनर्जी, वरुण कुमार, जतिन कुमार, अनुभव उपाध्याय, आर पी तिवारी, दीक्षा साहू, चेष्टा श्रीवास्तव, ठाकुर सुरेंदर सिंह, ज्ञानेश जी बैभव मेनी धीरेंद्र श्रीवास्तव, नवनीत श्रीवास्तव, रितिक कुमार, धीरज कुमार असर, सम्राट, रोशन आलम खान अरविंद पाण्डेय आदि लोग उपस्थित थे | उक्त जानकारी नाजिम अंसारी एवं फिल्म कलाकार दुकान जी ने संयुक्त रूप से दिया |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close