उत्तरप्रदेश

मण्डलायुक्त ने धान क्रय केन्द्रो पर सभी आवश्यक व्यवस्थायें पूर्ण रूप से सुनिश्चित बनाये रखने के दिए निर्देश @ रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज नैनी

कलयुग की कलम

धान की बिक्री करने में किसानों को कोई भी असुविधा न होने पाये

धान खरीद में किसी भी तरह से बिचैलियों का न होने पाये हस्तक्षेप

सभी धान क्रय केन्द्र प्रभावशाली ढंग से रहे क्रियाशील

क्रय केन्द्रों के बंद पाये जाने या धान खरीद में लापरवाही या उदासीनता पाये जाने पर सम्बंधित के विरूद्ध होगी कड़ी कार्रवाई

कलयुग की कलम

प्रयागराज मण्डलायुक्त श्री आर0 रमेश कुमार की अध्यक्षता में आयुक्त कार्यालय स्थित त्रिवेणी सभागार में धान खरीद की प्रगति के सम्बंध में समीक्षा बैठक आयोजित की गयी। बैठक में मण्डलायुक्त ने सभी डिप्टी आरएमओ सहित अन्य सभी सम्बंधित अधिकारियों को धान क्रय केन्द्रों पर आवश्यक व्यवस्थायें पूर्ण रूप से सुनिश्चित बनाये रखने का निर्देश दिया है। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा है कि धान खरीद के सम्बंध में जारी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने मण्डल के सभी जिलाधिकारियों को धान खरीद का नियमित रूप से अनुश्रवण करते रहने का निर्देश दिया है। मण्डलायुक्त सभी जनपदों के अपर जिलाधिकारियों को सप्ताह में कम से कम एक दिन अनिवार्य रूप से बैठक करते हुए धान खरीद की प्रगति की नियमित रूप से समीक्षा सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने आईजीआरएस पोर्टल पर धान खरीद से सम्बंधित दर्ज होने वाली शिकायतों को शीर्ष प्राथमिकता पर निस्तारित किए जाने का निर्देश दिया है। मण्डलायुक्त ने स्पष्ट रूप से निर्देशित करते हुए कहा है कि धान की बिक्री करने में किसानों को किसी भी प्रकार की असुविधा न होने पाये। उन्होंने कहा है कि धान क्रय केन्द्रो पर नमी मापक यंत्र सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थायें उपलब्ध रहें। मण्डलायुक्त ने सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि धान खरीद में किसी भी तरह से बिचैलियों का हस्तक्षेप न होने पाये, किसान सीधे क्रय केन्द्रों पर अपने धान की बिक्री करें, जिससे कि सरकार के द्वारा निर्धारित मूल्य उन्हें मिल सके। उन्होंने कहा है कि यदि कहीं से भी धान खरीद में बिचैलियों की शिकायत पायी गयी तो ऐसे केन्द्र प्रभारियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने यह भी निर्देशित किया है कि सभी धान क्रय केन्द्र प्रभावी ढंग से क्रियाशील रहे। उन्होंने सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि यदि कहीं से भी क्रय केन्द्रों के बंद होने की शिकायत पायी गयी तो सम्बंधित केन्द्र प्रभारियों एवं सम्बंधित नोडल अधिकारियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी। कहा है कि सभी क्रय केन्द्रों पर अनिवार्य रूप से नोडल अधिकारियों की तैनाती सुनिश्चित की जाये। मण्डलायुक्त ने कहा है कि प्रत्येक क्रय केन्द्रों पर लक्ष्य के सापेक्ष अनिवार्य रूप से धान क्रय की प्रगति सुनिश्चित रहे। मण्डलायुक्त ने निर्देशित करते हुए कहा कि धान की बिक्री करने वाले किसानों के खाते में उनका पैसा निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत अवश्य पहुंच जाये, इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता क्षम्य नहीं है। मण्डलायुक्त ने मण्डल के सभी डिप्टी आरएमओ सहित अन्य सम्बंधित अधिकारियों को धान खरीद के शत-प्रतिशत लक्ष्य को पूर्ण किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी उपजिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को नियमित रूप से धान खरीद की समीक्षा करते रहने का निर्देश दिया है।
बैठक में आरएफसी श्री देवराज यादव ने बताया कि इस वर्ष मण्डल का धान क्रय का लक्ष्य 4 लाख 40 हजार मीट्रिक टन निर्धारित किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि मण्डल में कुल 293 धान क्रय केन्द्र खोले गये है। उन्होंने यह भी बताया कि बोरे की पर्याप्त व्यवस्था है। बैठक में अपर आयुक्त-श्री भगवान शरण, उप निदेशक मण्डी सहित मण्डल के सभी जिलों के डिप्टी आरएमओं सहित अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close