मध्यप्रदेश

शिवराज के राज में खाद बीज के लिए सोसाइटी में प्रताड़ित हो रहे किसान.. शिव सिंह

कलयुग की कलम न्यूज़ रीवा

रीवा .. जनता दल सेक्युलर के प्रदेश अध्यक्ष शिव सिंह एडवोकेट ने मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार पर किसानों के प्रताड़ना का आरोप लगाते हुए कहा कि वर्तमान में रबी की फसल बोने का समय चल रहा है और किसान पुत्र शिवराज सरकार के राज में रीवा जिले सहित मध्य प्रदेश का किसान सहकारी समितियों में खाद बीज के लिए भटक रहा है श्री सिंह ने बरौं कदैला बीड़ा बैकुंठपुर खैरा पाती आदि जिले के तमाम किसानों से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि कॉपरेटिव बैंक जिला प्रबंधक एवं सोसायटी के क्षेत्रीय प्रबंधकों द्वारा किसानों को बुवाई के लिए सोसाइटी का कर्ज अदा करने के बाद भी खाद बीज नहीं दिया जा रहा समिति प्रबंधकों द्वारा किसानों से खसरा एवं किश्तबंदी की मांग की जाती है और उनके द्वारा यह कहा जाता है कि किसी भी किसान ने किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक से केसीसी का लोन लिया है तो सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों से कर्ज अदायगी की एनओसी लाना पड़ेगा तभी उन्हें खाद बीज दिया जाएगा जबकि सहकारी समिति किसानों की समिति है और सहकारी समिति में जो भी योजनाएं चालू है उन योजनाओं का लाभ पाने के लिए किसान पात्र है श्री सिंह ने कई समिति प्रबंधकों से फोन पर चर्चा किया तो उनके द्वारा यह कहा गया कि राज्य शासन द्वारा सहकारी समितियों को लिखित में ऐसा कोई आदेश जारी नहीं किया गया है यह मौखिक आदेश संभागीय एवं प्रदेश स्तरीय दिए गए थे श्री सिंह ने कहा कि इस कोरोना काल में सरकार लगातार किसानों के साथ जुल्म ज्यादती कर रही है इस समय किसान आर्थिक तंगी से जूझ रहा है डीजल के भाव आसमान पर हैं ऐसे में समितियों से किसानों को खाद बीज न देकर कालाबाजारी की जा रही है इसी तरह किसानों के हित में चलाई गई जीरो प्रतिशत की योजना का लाभ भी किसानों को नहीं मिल रहा एक तरफ भाजपा सरकार ने किसानों के विरुद्ध कानून पास कर उन्हें आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का काम किया दूसरी तरफ किसानों को खाद बीज देने से भी मना कर दिया जिससे जिले सहित प्रदेश का किसान सरकार के तानाशाही रवैया से पीड़ित है श्री सिंह ने किसानों को सोसायटी के माध्यम से शीघ्र खाद बीज वितरण कराए जाने की मांग की है अन्यथा किसान हित के लिए आंदोलन प्रदर्शन को मजबूर होना पड़ेगा

 

शिव सिंह एडवोकेट

प्रदेश अध्यक्ष जनता दल सेक्युलर मध्य प्रदेश

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close