मध्यप्रदेश

भ्रष्ट अधिकारियों का अतिशीघ्र करेंगे खुलासा: चरण सिंह

राज कुमार सेन ब्यूरो चीफ कलयुग की कलम छतरपुर

भ्रष्ट अधिकारियों का अतिशीघ्र करेंगे खुलासा: चरण सिंह

कलयुग की कलम

छतरपुर। कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए चरण सिंह यादव पर पुलिस ने रात को केस दर्ज किया और सुबह 10 हजार का इनाम घोषित कर दिया। यह वही चरण सिंह है जो कि भाजपा और कांग्रेस सरकार में नौकशाहों को रेत के कारोबार करने के एवज में मोटी रकम देते थे। यही नहीं उन्होंने एक बार एसपी छतरपुर को फोन पर यह कहा था कि जब पैसे लेते हो तो रेत के ट्रकों पर कार्यवाही किस बात की। उस समय छतरपुर में तत्कालीन एसपी विनीत खन्ना थे और एडीशनल एसपी केएस परिहार थे। चरण सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को पुलिस महकमा के लिए 10 लाख रुपए दिए थे तब चरण सिंह रेत के कारोबार मामले में सुर्खियों में आए थे। अभी हाल ही में उन्होंने एक वीडियो वायरल किया है जिसमें उन्होंने कहा है कि जिले के भ्रष्ट अधिकारियों की पूरी पोल खोली जाएगी। रेत के कारोबार में छतरपुर एसपी प्रतिमाह लाखों रुपए वसूल कर रहे हैं। जिसके कारण वह अवैध रेत के बारोप करने वालों पर कोई कार्यवाही नहीं करते हैं। मेरे ऊपर जो झूठा मुकदमा कायम किया गया उसके खिलाफ हम कोर्ट में मानहानि का दावा करेंगे और जब तक नहीं छेाड़ेंगे जब तक कि छतरपुर एसपी की पेंशन से वसूली न हो जाए। गौरतलब हो कि चरण सिंह उप्र का रेत कारोबारी है। इसकी पहुंच उप्र के बड़े बड़े नेताओं तक है। चरण सिंह का जलवा छतरपुर जिले के सभी रेत माफिया जानते हैं और वह बड़ामलहरा से चुनाव लडऩे के मूड में थे परंतु बहुजन समाज पार्टी ने उन्हें टिकट नहीं दिया तो उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता कमलनाथ के मंच पर ले ली। बड़ामलहरा क्षेत्र में यादव मतदाताओं की संख्या अधिक है और चरण सिंह की पकड़ यादव मतदाताओं पर अच्छी खासी है। चरण सिंह ने यह भी आरोप लगाया कि मेरे ऊपर कार्यवाही कर भाजपा नेताओं ने अपनी उल्टी गिनती शुरु कर दी है। पूरे क्षेत्र में यादव समाज भाजपा से काफी नाराज है। आने वाले परिणाम के समय यह खुलासा हो जाएगा चरण सिंह ने बड़ामलहरा क्षेत्र में यादव मतदाताओं से यह अपील की है कि उप चुनाव में यादव मतदाता कांग्रेस प्रत्याशी रामसिया भारती को अपना अमूल्य मत दें औरयादव समाज की साख को बरकरार रखें।

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close