मध्यप्रदेश

जिले में समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन 16 नवंबर से होगा प्रारंभ

कलयुग की कलम

1868 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य पर किया जायेगा उपार्जन

कलयुग की कलम

खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के लिये कटनी जिले में समर्थन मूल्य पर धान उपज विक्रय के लिये 102 उपार्जन केन्द्रों का निर्धारण किया गया है। जहां पर कृषक अपनी उपज का विक्रय 16 नवम्बर 2020 से 16 जनवरी 2021 तक कर सकेंगे। इस वर्ष धान का समर्थन मूल्य 1868 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।

निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार कृषक एसएमएस प्राप्त होने पर एसएमएस अवधि में ही उपार्जन केन्द पर अपनी उपज का विक्रय कर सकेंगे। उपज बिक्री के समय कृषक अपनी बैंक पासबुक, सिकमीनामा, आधार कार्ड, ऋण पुस्तिका साथ में रखना अनिवार्य है, ताकि किसी असुविधा का सामना न करना पड़े। बिक्री उपरांत कृषकों को कम्प्यूटर जनरेटेड विक्रय पावती प्राप्त कर उसका स्वयं परीक्षण कर लेने के लिये कहा गया है।

उपार्जन केन्द्रों के ऑपरेटर्स को अपने निर्धारित उपार्जन केन्द्रों में उपलब्ध रहकर उपार्जन कार्य का निष्पादन करने के लिये कहा गया है। इसके साथ ही खरीदी उपरांत कृषकों को कम्प्यूटर जनरेटेड विक्रय पावती प्रदान करने, प्रदाय के पूर्व उसका अवलोकर करने के निर्देश भी दिये गये हैं। त्रुटि होने पर कम्प्यूटर ऑपरेटर व्यक्तिगत उत्तरदायी होंगे। पावती एवं ई-उपार्जन पोर्टल पर कृषकों के गलत एकाउन्ट नंबर एवं फोन दर्ज होने की स्थिति में ऑपरेटर्स के विरुद्ध कार्यवाही की जायेगी। कृषकों को कम्प्यूटर जनरेटेड विक्रय पावती प्रदाय नहीं होने या उपार्जन संबंधित अन्य कोई परेशानी के निराकरण के लिये उपार्जन कन्ट्रोल रुम भी बनाया गया है, जिसके दूरभाष क्रमांक 07622-222611 पर कृषक संपर्क कर अपनी समस्या से अवगत करा सकते हैं। इसके साथ ही मोबाईल नंबर 9479527884 पर संपर्क किया जा सकता है।

जिले में उपार्जन के लिय 102 उपार्जन केन्द्र तहसीलवार निर्धारित किये गये हैं। जिसके अनुसार कटनी तहसील अन्तर्गत विपणन कटनी-1 गोदम स्तरीय, कटनी-2 गोदाम स्तरीय, कन्हवारा, पिलौंजी गोदामस्तरीय, पहाड़ी गोदामस्तरीय, शिवराजपुर गोदामस्तरीय, चाका कैलवारा-1 एवं चाका कैलवारा-2 गोदामस्तरीय, हीरापुर कौडि़या, सिंघनपुरी तथा पिपरौंघ में उपार्जन केन्द्र बनाये गये हैं। इसी प्रकार ढीमरखेड़ा तहसील अन्तर्गत देवरी मंगेला, टोला, मुरवारी, खाम्हा, उमरियापान, मड़ेरा, खमतरा, कटरिया, ढीमरखेड़ा, पोंड़ीकला, दशरमन, कछारगांव बड़ा, सिलौंड़ी, पाली (कचनारी) तथा झिन्ना पिपरिया में उपार्जन कार्य किया जायेगा।

बड़वारा तहसील में बड़वारा, रोहनिया, देवरी (खरहटा), अमाड़ी कैप, कांटी, पठरा, बसाड़ी-कैप, निगहरा-कैप, विलायताकलां, भजिया, भुड़सा, नन्हवारा सेझा-कैप, बरही-गोदामस्तरीय, करोंदीखुर्द-गोदामस्तरीय, करेला, पिपरियाकलां, बगैहा तथा हरदहटा में उपार्जन कार्य होगा। बहोरीबंद तहसील अन्तर्गत कूड़न, किवलारी, जुझारी, देवरीखरगवां-कैप, पथराड़ी पिपरिया-कैप, बहोरीबंद-कैप, सिंहुड़ी, हथयागढ़, पोंड़ी, बचैया, कुंआ, जुजावल, किरहाई पिपरिया, बाकल, खमतरा (बाकल), मंसधा, बरही बाकल, अगौध, चांदनखेड़ा, सलैया पटोरी, इमलिया को उपार्जन केन्द्र बनाया गया है। स्लीमनाबाद तहसील में धरवारा-गोदामस्तरीय, कारीपाथ (समूह) लक्ष्मी बाई-गोदामस्तरी, धूरी, तेवरी-गोदामस्तरीय, संसारपुर-गोदामस्तरीय (समूह) हिन्दुस्तानी, स्लीमनाबाद, हरदुआ-गोदामस्तरीय, कौडि़या, पड़भटा, गाड़ा-गोदामस्तरीय उपार्जन केन्द्र निर्धारित किये गये हैं। रीठी तहसील में रीठी-कैप, हरद्वारा-गोदामस्तरीय, मुहास, बिलहरी, बड़खेरा, बड़गांव, गुरजीकलां, बकलेहटा, तिलगवां, देवगांव-गोदामस्तरीय, रैपुरा-गोदामस्तरीय, कटनी-1 गोदामस्तरीय, कटनी-2 में उपार्जन कार्य होगा।

विजयराघवगढ़ तहसील अन्तर्गत उबरा, धवैया, सिनगौड़ी, पड़रिया, पथरहटा, विजयराघवगढ़, गौरहा, देवरांकलां, कारीतलाई, जिवारा, नन्हवारा (अमेहटा), सलैया कोहारी में उपार्जन केन्द्र बनाये गये हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close