उत्तरप्रदेश

देवालय से सामाजिक क्रांति का महाअभियान

सुभाष चंद्र पटेल रिपोर्टर नैनी प्रयागराज

धर्मस्थल सेवा,सद्भाव व राष्ट्रनिर्माण के केंद्र बनें।

प्रयागराज नैनी पीडब्ल्यूएस परिवार ने अपने नए संकल्प के रूप में देवालय से सामाजिक के महाअभियान का आह्वान किया है। जानकारी के अनुसार पीडब्ल्यूएस परिवार के संस्थापक आर के पाण्डेय एडवोकेट ने आज मीडिया से वार्ता में कहा कि आज धर्मस्थलों को आस्था के साथ सेवा, सद्भाव व राष्ट्रनिर्माण का केंद्र बनने की जरूरत है जिसके लिए आम जनमानस को सामने आना होगा। उन्होंने जगह-जगह धार्मिक स्थलों के नाम पर जमीनों पर कब्जे, मुकदमेबाजी, विवाद व देवालयों को आय का केंद्र बनाए जाने पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पूरे समाज के आस्था के केंद्र अधिकांश धर्मस्थलों का कोरोना संकट काल में जरूरतमंदों की सेवा के लिए सामने न आना दुखद है। देंेें

बता दें कि पीडब्ल्यूएस परिवार ने ऐसे देवालय की स्थापना का संकल्प लिया है जोकि निर्विवादित दान की जमीन पर बनें या जीर्ण-शीर्ण पुराने देवालयों को सुसज्जित करके सभी समाज के लिए खोल दिए जाएं। वरिष्ठ समाजसेवी अधिवक्ता आर के पाण्डेय ने बताया कि इन देवालय में धन का चढ़ावा वर्जित होगा व आरती में सिर्फ एक पुष्प अपेक्षित होगा। उन्होंने बताया कि श्रद्धालु स्वेच्छा से दान पत्र में गोपनीयता से धन देकर अथवा दान देकर रशीद प्राप्त कर सकेंगे तथा इन देवालय में दान-पात्र व दान से आये धन का 25 प्रतिशत धन देवालय के विकास में व्यय होगा जबकि 75 प्रतिशत धन समाज के हित में व्यय किया जाएगा। आर के पाण्डेय के अनुसार देवालय के परिक्षेत्र के निर्धन, बेसहारा परिवारों के लड़कियों की शादी, असहाय बच्चों की शिक्षा व जरूरतमंदों की सहायता के साथ भूखों के लिए अन्न क्षेत्र की व्यवस्था यह देवालय करेंगे। उनके अनुसार यह देवालय सामाजिक क्रांति के केंद्र बनेंगे। इस महाअभियान में पीडब्ल्यूएस परिवार ने राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों से एक ईंट व एक रुपये के सहयोग की अपेक्षा की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close