मध्यप्रदेश

किसान अध्यादेश के विरोध मे एम.एस.पी. दिवस मनाया गया

कलयुग की कलम राष्ट्रीय समाचार पत्रिका न्यूज़ वेबसाइट रीवा

नेताओं ने कहा जो किसान की बात करेगा वो देश में राज करेगा

रीवा दिनांक 14 अक्टूबर 2020/अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की अपील पर देश के 250 किसान संगठनों के द्वारा आज 14 अक्टूबर 20 को एमएसपी अधिकार दिवस देश भर में आयोजित किया गया है। जिसके तारतम्य मंे विध्य प्रदेश की राजधानी रीवा में एम.एस.पी. दिवस का आयोजन कमिश्नर कार्यालय के समक्ष किया गया कार्यक्रम उपरांत प्रधानमंत्री, केन्द्रीय कृषि मंत्री, मुख्यमंत्री को सम्बोधित ज्ञापन आयुक्त रीवा सम्भाग को सौंपा गया। साथ में जिले में बिगड़ी कानून व्यवस्था व अन्य मुद्दो को लेकर मुख्यमंत्री के नाम कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ समाजवादी नेता कौशल सिंह ने किया, कार्यक्रम को संबोधित करते हुये मीसाबन्दी ब्रहस्पति सिंह, किसान नेता ईश्वरचन्द्र त्रिपाठी, मीसाबन्दी रामेश्वर सोनी, महेश्वरी त्रिपाठी, समाजवादी नेता वीरेन्द्र सिंह बघेल, गांधी विचार मंच के रामेश्वर गुप्ता समाजवादी पार्टी के प्रदेश सचिव रामायण सिंह, जनतादल सेक्युलर के प्रदेश अध्यक्ष शिव सिंह, भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष किसान सुब्रतमणि, किसान नेता भैयालाल त्रिपाठी, समग्र उत्थान पार्टी के नेता शिव कुमार मिश्रा बाबा समाजवादी नेता धीरेश सिंह गहरवर, लोकतांत्रिक जनता दल के नेता रामराज पटेल, समाजवादी नेता इन्द्रजीत सिंह मुंशी, आप पार्टी के अध्यक्ष राजीव सिंह परिहार, किसान कांग्रेस के नेता आदित्य त्रिपाठी, किसान महासभा के महासचिव रामजीत सिंह, भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष अनिल सिंह पिन्टू, शहीद राघवेन्द्र संघर्ष समिति के अध्यक्ष इन्द्रजीत सिंह शंखू, अखिल भारतीय किसान सभा के लालमणि मिश्रा, आम आदमी पार्टी के नेता प्रमोद शर्मा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के महासचिव आनन्द तिवारी, ओबीसी महासभा के संभागीय अध्यक्ष पप्पू कनौजिया, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के नेता भैयालाल मरावी, किसान नेता रामनरेश सिंह, कामरेड संजय निगम, कामरेड अजय तिवारी, जेडीएस जिला अध्यक्ष मोहम्मद आबिद राजू तेजभान सिंह, का0 के0के0 शुक्ला, समाजसेवी अभिषेक कुमार पटेल ने विचार व्यक्त करते हुये कहा कि जिन कृषि उत्पादों का एमएसपी सरकार द्वारा घोषित किया गया है उन कृषि उत्पादों की एमएसपी पर मंडी में खरीद नही होने के चलते किसानों को मजबूरी में बहुत कम दाम पर कृषि उत्पाद बेचने को मजबूर होना पड़ रहा है। किसानों के लिए यह भयावह स्थिति है क्योंकि आपकी सरकार द्वारा डीजल के दाम बढ़ा दिए जाने, महंगाई बढ़ने तथा प्राकृतिक आपदा में खेती नष्ट होने के चलते किसानों की आर्थिक हालत चरमरा गई है। आमदनी दुगनी होनी की जगह आधी होने की स्थिति बन रही है। यह हालत उन कृषि उत्पादों की है जिनकी एमएसपी जारी की गई है। किसान संघर्ष समिति, अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति फल, सब्जी सहित सभी कृषि उत्पादों की एमएसपी पर खरीद सुनिश्चित करने तथा एमएसपी के नीचे खरीद करने वाले व्यापारियों पर मुकदमा दर्ज कर जुर्माना लगाने एवं जेल भेजने की कार्यवाही की मांग करती रही है। कार्यक्रम में जयभान सिंह, अखिलेश सिंह, रामनारायण सिंह, प्रद्युमन सिंह सहित सैकड़ो किसान उपस्थित रहें।

किसान नेता ईश्वरचन्द्र त्रिपाठी सायकल से ग्वालियर के लिये रवाना

किसान मजदूर संयुक्त यूनियन के संयोजक ईश्वरचन्द्र त्रिपाठी अपने साथी श्रीकान्त द्विवेदी प्रदेश उपाध्यक्ष राघव पयासी विन्ध्य विकास अभियान, रमेश द्विवेदी संयोजक विन्ध्य विकास अभियान, शकुंतला तिवारी, आरती केवट व अन्य सदस्यों के साथ कार्यक्रम स्थल कमिश्नरी रीवा से ग्वालियर के लिये किसान जगाओ सायकल यात्रा से रवाना हुये। जिन्हे अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के नेताओं ने हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close