मध्यप्रदेश

संपूर्ण क्रांति के उद्घोषक थे जेपी.. बृहस्पति सिंह

कलयुग की कलम

देश में तानाशाही के खिलाफ जेपी आंदोलन की जरूरत.. शिव सिंह

रीवा 11 अक्टूबर 2020.. संपूर्ण क्रांति के अगुआ लोकनायक जयप्रकाश नारायण जी की जयंती अवसर पर उन्हें याद करते हुए राष्ट्र सेवादल के प्रमुख मीसाबंदी बृहस्पति सिंह जनता दल सेक्यूलर के प्रदेश अध्यक्ष शिव सिंह एडवोकेट ने कहा कि बिहार के जिला सारण में 11 अक्टूबर 1902 में जन्मे जयप्रकाश नारायण शिक्षा दीक्षा के बाद नक्सलवाद एवं हिंसा के खिलाफ नागालैंड सहित अन्य राज्यों में काम किए तथा मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले में डाकुओं का समर्पण कराया वह भारत विभाजन के खिलाफ थे सन 1974 में इंदिरा सरकार ने पटना में जेपी पर लाठी चलवाया था तब जेपी ने तानाशाही के खिलाफ 1975 में आंदोलन चलाया जिस पर जेल प्रताड़ना झेलनी पड़ी उनकी किडनी खराब हो गई वह आंदोलन इंदिरा सरकार को महंगा पड़ा खामियाजा यह हुआ सन 1977 में कांग्रेस को बिहार एवं उत्तर प्रदेश में एक भी सीट नहीं मिली सिर्फ मध्य प्रदेश राजस्थान में एक-एक सीट मिली उसी समय जयप्रकाश जी को प्रधानमंत्री राष्ट्रपति का ऑफर तक दिया गया लेकिन उन्होंने ठुकरा दिया और अपना पूरा समय गांधी की तरह देश की सेवा में लगा दिया उनके साथ उनकी पत्नी का भी पूरा सहयोग रहा जयप्रकाश जी कहते थे कि सत्ता के मत्थे परिवर्तन नहीं होगा विपक्ष को मजबूत होना चाहिए पिछली सरकारें विपक्ष को मजबूत बनाती थी लेकिन वर्तमान में मौजूदा सरकार विपक्ष को समाप्त करना चाहती है आज जो भी लोग सत्ता में बैठे हैं विपक्ष को दुश्मन की हैसियत से देखते हैं और दुश्मन के जैसा उनके साथ व्यवहार भी करते हैं जो बेहद निंदनीय है आज फिर देश को बचाने जेपी आंदोलन की जरूरत है जयप्रकाश जी ने एक नारा दिया था कि सिंहासन खाली करो कि जनता आती है

शिव सिंह एडवोकेट प्रदेश अध्यक्ष जनता दल सेक्युलर मध्य प्रदेश

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close