मध्यप्रदेश

बांधवगढ़ मे दो नवजात शावकों की मौत

विनीत कुमार जायसवाल ब्यूरो चीफ कलयुग की कलम उमरिया

9 अक्टूबर को दोपहर 1 बजे हाथी गश्त के दौरान ताला परिक्षेत्र की दक्षिण गोहडी बीट के कक्ष क्रमांक 301 में उमरहा पहाड़ी के ऊपर एक गुफा के समीप 2 नवजात मादा बाघ शावक देखे गए, जिनकी आंखें भी नहीं खुली थीं। इनमें से एक मृत अवस्था में थी और दूसरी शावक आवाज़ कर रही थी। दोनों शावक गुफा से कुछ दूर पाए गए। मामले को लेकर पार्क संचालक विन्सेन्ट रहीम ने बताया कि घटना की सूचना पर सहायक संचालक ताला और वन्य जीव पशु चिकित्सक को मौके पर रवाना किया गया एवं सूचना मुख्य वन्य प्राणी अभिरक्षक को दी गई। उनके द्वारा वन्य जीव विशेषज्ञों से राय लेकर शावकों पर रात भर नज़र रखने के निर्देश दिए। आज सुबह पुनः स्थल पर जाकर देखने पर दोनों शावक मौके पर मृत पाए गए। मौके पर मादा बाघ के पद चिन्ह भी देखे गए जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि शावकों की मां रात में उनके पास अाई थी। सुबह दोनों मृत शावकों को बाथन लाया गया और क्षेत्र संचालक विंसेंट रहीम,सहायक संचालक ताला अभिषेक तिवारी, श्रीमती बीनू सिंह और अन्य कर्मचारियों तथा एनटीसीए के प्रतिनिधि सीएम खरे की उपस्थिति में पार्क के सहायक वन्य जीव शल्य चिकित्सक डॉ नितिन गुप्ता द्वारा शव किया जाकर सैंपल लिए गए एवं दाह संस्कार किया गया॥

 

 

विनीत कुमारजायसवालक कलयुग की कलम पत्रिका जिला ब्यूरोचीफ उमरिया

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close