मध्यप्रदेश

किसान बिल के विरोध में गांधी जयंती पर छिजवार में किसान सत्याग्रह… शिव सिंह

कलयुग की कलम

रीवा 30 सितंबर 2020… जनता दल सेक्युलर के प्रदेश अध्यक्ष शिव सिंह एडवोकेट ने बताया कि केंद्र में बैठी मोदी सरकार ने किसानों के विरुद्ध सदन में तीन अध्यादेश पारित कर किसानों के साथ बड़ा अन्याय किया है यह तीनों अध्यादेश भारत के करोड़ों किसान परिवारों के भविष्य से जुड़े हुए हैं आज देश का किसान मोदी सरकार द्वारा बनाए गए अध्यादेश के विरुद्ध देशभर में शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहा है लेकिन सरकार दमनकारी नीति से आंदोलन को कुचलना चाहती है देश के प्रधानमंत्री एवं कृषि मंत्री सहित मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य किसान बिल पारित करने के पूर्व न तो देश के किसी किसान संगठन से और न ही देश के किसानों से चर्चा करने तक का काम नहीं किया सरकार ने अलोकतांत्रिक तरीके एवं संविधान की मर्यादाओं के विपरीत कार्य करते हुए किसानों के विरुद्ध कानून बनाकर उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर किया जिस संबंध में 25 सितंबर 2020 को देशव्यापी बंद धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया आज भी पूरे देश में किसान आंदोलन पर है श्री सिंह ने कहा कि 29 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने एक बयान जारी कर कहा कि किसान बिल मामले में देश का विपक्ष किसानों को गुमराह कर रहा है ऐसा बयान किसानों की आत्मा में गंभीर चोट है देश का किसान आज प्रधानमंत्री से यह सवाल कर रहा है कि प्रधानमंत्री बताएं कि देश के कितने किसान संगठन एवं किसान आप से किसान बिल में संशोधन करने की मांग किए थे सरकार के उक्त किसान विरोधी रवैया को लेकर 2 अक्टूबर गांधी जयंती अवसर पर मध्य प्रदेश किसान संघर्ष समन्वय समिति के आयोजकत्त्व मे छिजवार चौक गांधी प्रतिमा के समक्ष जेपी नौबस्ता में सुबह 11 बजे से सायं 4 बजे तक किसान बिल एवं विभिन्न मुद्दों को लेकर धरना सत्याग्रह आयोजित किया गया है सत्याग्रह के आयोजनकर्ता शहीद राघवेंद्र संघर्ष समिति के अध्यक्ष इंद्रजीत सिंह शंखू किसान सभा के महासचिव रामजीत सिंह ने सभी किसान संगठनों किसान भाइयों मीसाबंदियों राजनीतिक दलों समाजसेवियों किसान प्रेमियों से धरना सत्याग्रह कार्यक्रम में शामिल होने की अपील किया है

 

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close