मध्यप्रदेश

लाकप में टीआई की सर्विस रिवाल्वर से संदेही की मौत, परिजनों का आरोप टीआई पाठक ने ही मारी गोली

योगेश योगी कलयुग की कलम सतना

उत्तर प्रदेश की पुलिसिया स्टाइल का साइड इफेक्ट अब मप्र की पुलिस में भी साफ नजर आने लगा है। जिले की सिंहपुर थाना पुलिस ने कुछ यूपी स्टाइल में ही एक सनसनीखेज घटना को अंजाम दिया है। सिंहपुर में हुई चोरी की एक घटना के मामले में सिंहपुर थाना पुलिस ने तीन संदेहियों को उठाया था। इनमें से एक राजपति कुशवाहा की गोली लगने से मौत हो गई है। सिंहपुर थाना क्षेत्र के आसपास के गांवों के सैकड़ों लोगों ने घटना पर विरोध दर्ज कराते हुए निष्पक्ष जांच की आवाज उठाई है। पुलिस लाकप में थाना प्रभारी की रिवाल्वर से निकली गोली से चोरी के संदेही राजपति कुशवाहा पिता बद्री कुशवाहा 48 साल निवासी नारायणपुर रैगांव चौकी की मौत हो गई। जब राजपति कुशवाहा के गोली लगने का नजारा सिंहपुर थाना पुलिस ने तत्काल घायल संदेही को बिरला अस्पताल ले गए। यहां पर देखने के बाद चिकित्सकों ने संजय गांधी अस्पताल रीवा के लिए रेफर कर दिया। यहां पहुंचने के पहले ही राजपति कुशवाहा की मौत हो गई। मामले की सूचना बाहर आते ही आसपास के दर्जनों गांवों में रहने वाले लोगों का समूह बड़ी संख्या में सड़क पर उतर आया और नागौद कलिंजर रोड को जाम कर दिया गया। देखते ही देखते सड़क जाम करने वालों की संख्या हजारों में हो गई। सिंहपुर थाना पुलिस के खिलाफ लोगों का गुस्सा सड़क पर उतर आया। इधर पुलिस के तमाम आला अधिकारी भी सिंहपुर थाना पहुंचने लगे। गांवों वालों की भीड़ को देखते हुए सागर और जबलपुर रेंज से भी पुलिस बल सिंहपुर बुला लिया गया। संदेही राजपति कुशवाहा के परिजनों का आरोप है कि पूछताछ के लिए पुलिस उसे पकड़ लाई और लाकप के अंदर टीआई की रिवाल्वर से मौत के घाट उतार दिया। जबकि पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल के अनुसार चोरी के मामले में संदेहियों से पूछताछ करने के लिए थाने लाया गया था, जब थाना प्रभारी विक्रम पाठक लाकप के अंदर तीनों से पूछताछ कर रहे थे तो टेबिल में सर्विस रिवाल्वर रखकर बाथरूम की तरफ चले गए और इसी बीच संदेही ने रिवाल्वर उठाकर अपने गोली मार ली। जबकि परिजनों का आरोप है कि पूछताछ के दौरान ही सिंहपुर थाना प्रभारी ने रामहित के गोली मार दी। कुल मिलाकर पुलिस जो घटना के पीछे की कहानी बता रही है वह कहीं न कहीं शंका जरुर पैदा करती है। सूचना मिलने पर डीआईजी रीवा रेंज अनिल सिंह कुशवाहा सतना होते हुए सिंहपुर पहुंचे। सूत्रों ने बताया कि राजपति कुशवाहा की मौत के मामले में सच्चाई सामने लाने के लिए न्यायिक जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं। पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने घटना की जानकारी मिलने के उपरांत सिंहपुर थाना प्रभारी विक्रम पाठक और आरक्षक आशीष को थाने से हटाकर सिविल लाइंस भेज दिया है।

एसपी ने थाना प्रभारी और सीएम ने एसपी को हटाया

सिंहपुरथाना में पदस्थ थाना प्रभारी विक्रम पाठक और आरक्षक आशीष को इस घटना के मामले में थाने से हटाकर एसपी रियाज इकबाल ने सिविल लाइंस भेज दिया। राजपति कुशवाहा के परिजनों सहित आसपास के दर्जन भर गांवों में रहने वाले लोगों ने सिंहपुर थाने के बाहर सड़क जाम कर दिया। मौके पर पुलिस अधिकारियों के साथ साथ जबलपुर और सागर रेंज का पुलिस बल मौजूद रहा। सिंहपुर थाने के लाकप में राजपति कुशवाहा की मौत का मामला समझते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सतना पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल को सतना से हटा दिया। मुख्यमंत्री ने घटना को लेकर न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close