मध्यप्रदेश

मंत्री सिलावट के निर्देश पर मॉंगलिया डिपो स्थिति विघुत मंडल में बिजली अधिकारियों ने बिना रिश्वत बिजली कनेक्शन देना बंद किये

मंत्री सिलावट के निर्देश पर मॉंगलिया डिपो स्थिति विघुत मंडल में बिजली अधिकारियों ने बिना रिश्वत बिजली कनेक्शन देना बंद किये

“मंत्री सिलावट के निर्देश पर मॉंगलिया डिपो स्थिति विघुत मंडल में बिजली अधिकारियों ने बिना रिश्वत बिजली कनेक्शन देना बंद किये”
————
“चुनाव के लिए मंत्री सिलावट को चंदा देने के निर्देश दिये हैं ऊर्जा मंत्री प्रघुमन सिंह तोमर ने”
—————
“निपानिया एंव लसुडिया में नवीन बिजली कनेक्शन में भारी रिश्वतख़ोरी मंत्री सिलावट का संरक्षण “
——————
इन्दौर,म.प्र. के जलसंसाधन मंत्री सिलावट के संरक्षण में मॉंगलिया डिपो स्थित विघुत मंडल के कार्यालय में बिना रिश्वत लिए कनेक्शन देना डेढ़ माह से बंद कर दिया हैं।मंत्री सिलावट के सिपहसालार विघुत मंडल रोज़ाना पहुँचकर रिश्वत का रूपया वसूल करते हैं।विघुत मंडल के कर्मचारी सुमित गुप्ता रोज़ाना रिश्वत के कलेक्शन का हिसाब पहुँचा रहे हैं।अधिकारी कश्यप भी मौन धारण करके मंत्री सिलावट की अवैध वसूली के सामने नतमस्तक हैं।एक स्थायी कनेक्शन की फ़ीस 1450/- निर्धारित हैं।विघुत मंडल के नियमानुसार कनेक्शन की डिमांड का पैसा जमा होने के बाद सात से इक्कीस दिन में कनेक्शन देने का नियम हैं।लेकिन इस विघुत मंडल के कार्यालय में एक स्थायी विघुत कनेक्शन लेने के लिए रिश्वत के 6,000/- मॉंगे जाते हैं।रिश्वत नहीं देने पर कनेक्शन नहीं दिया जाता हैं।निपानियॉं और लसुडिया में जमकर लूट की जा रही हैं ।जनता ईमानदारी से 1450/- जमा करने के बाद भी बिजली कनेक्शन नहीं किया जा रहा हैं।लगभग दो हज़ार कनेक्शनों में अवैध वसूली की संभावना हैं।
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी के प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने बताया कि ज्वलंत उदाहरण हैं की नंदकिशोर पाटीदार ने प्लेटिनम पेराडाइज निपानियॉं स्थित भवन में स्थायी विधुत कनेक्शन लेने की कोशिश बिना रिश्वत दिये की गयी तब नतीजा यह आया की 29 अगस्त को समस्त भुगतान जमा करने के बाद आज 27 दिन बाद भी कनेक्शन नहीं दिया गया।जब भी कनेक्शन के लिए विघुत मंडल कार्यालय नंदकिशोर गये तो बोला गया की 6000/- रिश्वत के बिना मुख्यमंत्री भी कनेक्शन नहीं लगवा सकता।यह मंत्री सिलावट का इलाक़ा हैं कुछ नहीं होगा।
यह अराजकता सिद्ध करती हैं की मंत्री सिलावट स्थायी बिजली कनेक्शन में विधुत मंडल के अधिकारियों के साथ मिलकर जमकर अवैध वसूली करा रहे हैं।
इस संदर्भ में मुख्यमंत्री को लिखित शिकायत की गयी हैं।जनता से अवैध वसूली करने वाले मंत्री के संरक्षण प्राप्त विधुत मंडल के अधिकारियों के ख़िलाफ़ कार्यवाही करने का साहस मुख्यमंत्री में हैं या नहीं ।

सादरप्रकाशनार्थ

राकेश सिंह यादव
प्रदेशसचिव
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी
भोपाल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close