मध्यप्रदेश

प्रदेश बना उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण माफियाओं का चारागाह

कलयुग की कलम
राज कुमार सिंह
मध्य प्रदेश राज्य ब्यूरो चीफ

मध्य प्रदेश इस समय उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण माफियाओं का शरण स्थली चारागाह बन गया है कानपुर के चर्चित माफिया 8 पुलिस वालों को मौत के घाट उतारने वाले विकास दुबे की बाबा महाकाल में चर्चित आत्म समर्पण और उसके बाद उत्तर प्रदेश पुलिस की नौटंकी और ड्रामेबाजी से भरी हुई विकास दुबे की एनकाउंटर की कहानी अभी लोगों की जुबान पर चर्चा विवाद और बहस का मुद्दा था, ही की उत्तर प्रदेश के एक और ब्राह्मण माफिया भदोही के विधायक विजय मिश्रा का उसे उज्जैन के मालवा क्षेत्र के आगर जिले में मध्य प्रदेश पुलिस की गिरफ्तारी से एक बात साफ हो गया है कि मध्य प्रदेश जाने अनजाने में वर्तमान समय में उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण माफियाओं के शरण स्थली का सबसे सुरक्षित ठिकाना या यह कहा जाए कि चारागाह बन गया है तो गलत नहीं है l विकास दुबे के बाद विजय मिश्रा का मध्यप्रदेश में आत्मसमर्पण से एक बात और साफ हो जाती है कि मध्यप्रदेश में कोई ऐसा राजनीतिक रसूख वाला जिसका राजनीति के साथ शासन और सत्ता में दबदबा है वह इन माफियाओं का मध्यप्रदेश में संरक्षण और पोषण कर रहा है जो मध्य प्रदेश की राजनीतिक फिजा के लिए कहीं से अच्छा संकेत नहीं है i विकास दुबे प्रकरण में भाजपा के जिस ब्राह्मण कद्दावर नेता का नाम उछला था वही नाम एक बार पुनः विजय मिश्रा से जुड़ता हुआ नजर आ रहा है वैसे यह चिंता और मध्यप्रदेश की फिजा के लिए ठीक नहीं है l उत्तर प्रदेश के माफिया मध्य प्रदेश के शांति भरे इलाकों में इस कदर उत्तर प्रदेश पुलिस से भागकर उसे अपनी शरण स्थली बना रहे हैं उत्तर प्रदेश के माफियाओं को अगर एक बार मध्य प्रदेश की जमीन रास आ गई तो मध्य प्रदेश से उन्हें हटाना और भगाना बहुत ही टेढ़ी खीर साबित होगाI

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close