उत्तरप्रदेशस्वास्थ्य

राहत भरी खबर! नोएडा के 6 संदिग्धों के नमूने जांच में निगेटिव, DM बोले- स्‍कूल बंद करने का आदेश नहीं

राहत भरी खबर! नोएडा के 6 संदिग्धों के नमूने जांच में निगेटिव, DM बोले- स्‍कूल बंद करने का आदेश नहीं

नोएडा. उत्तर प्रदेश के नोएडा में कोरोना वायरस के छह संदिग्धों के नमूने जांच में निगेटिव पाए गए हैं. लेकिन, सभी लोग 14 दिनों तक डॉक्टरों की निगरानी में रहेंगे, ताकि संक्रमण के लक्षण विकसित होते ही उन्हें तुरंत इलाज मिल सके. सरकार और प्रशासन सभी लोगों पर नजर बनाए हुए है. बता दें कि ये सभी लोग उस शख्स के कांटेक्ट में आए थे, जिसमें कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी.

गौरतलब है कि मंगलवार को नोएडा में कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका की वजह से दो स्कूलों को बंद कर दिया गया था. दरअसल, एक स्कूल के कुछ बच्चे पॉजिटिव शख्‍स द्वारा आयोजित बर्थडे पार्टी में शामिल हुए थे. हालांकि, डीएम ने साफ किया है कि उनकी तरफ से स्कूल बंद करने का कोई आदेश नहीं दिया गया है.

नोएडा में प्रशासन अलर्ट
नोएडा में कोरोना वायरस के संदिग्ध मामले सामने आने के बाद जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग अलर्ट पर है. स्वास्थ्य विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं. नोएडा प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार ये नंबर 8076623612 और 6396776904 हैं. बुखार, जुकाम और सांस लेने में तकलीफ होने पर लोग इन नंबर पर फोन कर सकते हैं. स्वास्थ्य विभाग की टीम घर जाएगी और सैंपल लेगी.

दो स्कूलों को तीन दिनों के लिए किया गया बंद
जिला अधिकारी बीएन सिंह ने कहा कि इससे घबराने की बात नहीं है. उन्होंने कहा कि दो स्कूलों को तीन दिनों के लिए बंद किया गया है. बाकी स्कूल यदि छुट्टी कर रहे हैं, तो वे अपनी मर्जी से कर रहे हैं. जिला प्रशासन की ओर से कोई निर्देश जारी नहीं किए गए हैं.

स्कूलों को सैनिटाइज करने के बाद खोला जाएगा
सीएमओ डाॅ. अनुराग भार्गव ने बताया कि शहर के दो स्कूलों के पांच बच्चों में वायरस के लक्षण मिलने की जानकारी मिली थी, जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्कूलों का दौरा किया तथा उनके सैंपल लिए. उन्होंने बताया कि दोनों स्कूलों को छह मार्च तक के लिए बंद किया गया है. स्कूलों को पूरी तरह से सैनिटाइज करने के बाद खोला जाएगा.

अस्‍पताल की व्‍यवस्‍था
जिला अधिकारी ने बताया कि जांच में यदि संक्रमण की पुष्टि होती है तो उपचार के पूरे इंतजाम कर लिए गए हैं. दो अस्पतालों में पृथक वॉर्ड बनाए गए हैं. पहला अस्पताल ग्रेटर नोएडा में 10 बेड वाला है. दूसरा अस्पताल सेक्टर-30 का सुपर स्‍पेशियलिटी अस्पताल है, जिसमें नौ बेड वाला पृथक वॉर्ड बनाया गया है.

एल्कोहलिक सैनिटाइजर से सैनिटाइज करें हाथ
सीएमओ डाॅ. अनुराग भार्गव ने कहा, ‘घबराने की जरूरत नहीं है. इस वायरस से निपटने के लिए लोगों को जागरुक होना पड़ेगा. यदि वह किसी से हाथ मिलाते हैं तो हाथों को सैनिटाइज करें. जिस लोशन से आप सैनिटाइज कर रहे हैं, वह एल्कोहलिक होना चाहिए. इसके अलावा हाथ मिलाने के बाद हाथों को बिना सेनिटाइज किए चेहरे, आंखों के पास और नाक के पास न रगड़े. ऐसे में यदि दूसरे व्यक्ति में संक्रमण है तो वह आप में भी फैल सकता है.’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close