UNCATEGORIZED

आखिर क्यों भ्रष्टाचारी रोजगार सहायक के संरक्षक बने बैठे हैं कटनी जिला पंचायत सी. ई.ओ. जगदीश चंद्र गोमे

सवालों के घेरे में सी. ई. ओ. जिला पंचायत कटनी की कार्यशैली

 

आखिर क्यों भ्रष्टाचारी रोजगार सहायक के संरक्षक बने बैठे हैं कटनी जिला पंचायत सी. ई.ओ. जगदीश

ग्राम पंचायत परसेल का भ्रष्ट रोजगार सहायक सचिव संतोष पटेल का छाया चित्र

आदेश की छायाप्रति

कलयुग की कलम

कटनी जिले की जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा की ग्राम पंचायत परसेल के रोजगार सहायक संतोष पटैल पर प्रधानमंत्री आवास योजना अंतर्गत मनरेगा से प्रदाय की जाने वाली मजदूरी की राशि में फर्जी मस्टर रोलों के द्वारा हितग्राहियों की राशि में हेरा फेरी कर हड़पने के आरोप लगे थे जिसकी जांच मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा द्वारा तीन सदस्यीय जांच दल से कराई गई थी जांच दल में इकबाल खान सहायक यंत्री ओपी गुप्ता उपयंत्री एवं दीपक रहँगडाले शामिल थे जिन्होंने अपनी जांच प्रतिवेदन में रोजगार सहायक संतोष पटेल को 54860/रूपये एवं ग्राम पंचायत परसेल के तत्कालीन प्रभारी रोजगार सहायक प्रदीप पटेल को 7396/रूपये की वित्तीय अनियमितताओं का दोषी पाया गया ज्ञात होवे की रोजगार सहायक संतोष पटैल पूर्व में करीब डेढ़ वर्ष तक सेवा से पृथक रहा है उक्त समयावधी में ग्राम पंचायत बरही का रोजगार सहायक प्रदीप पटेल ग्राम पंचायत परसेल में प्रभारी था संतोष पटैल ने ग्राम पंचायत परसेल के ग्राम परसेल एवं ग्राम नैगवां के 13 प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों की मनरेगा की मजदूरी की राशि बगैर हितग्राहियों की सहमति के अपने चहेते भ्रष्ट मेटों व कमीशन खोर फर्जी मजदूरों अपनी समाज के कुछ लोगों यहां तक कि अपने पिता एवं सगे भाइयो अभिषेक पटैल एवं अमित पटैल के नाम पर फर्जी मस्टररोल जनरेट कर आहरित कर हड़प ली एवं प्रदीप पटैल द्वारा भी प्रभारी रोजगार सहायक रहते चार हितग्राहियों की राशि हड़प ली गई जिसका जांच प्रतिवेदन भी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत ढीमरखेड़ा द्वारा दिनांक 04.04.2022 को कार्यावाही हेतु मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत कटनी को भेज दिया गया था लेकिन सी. ई. ओ. जिला पंचायत कटनी जगदीश चंद्र गोमे की जन शिकायतों के प्रति उदासीन कार्य पाली के चलते पहले तो जनपद एवं जिला पंचायत में भ्रष्टाचार की शिकायतें लंबित होने के बाद भी पहले तो गरीब हरिजन आदिवासी पीड़ित हितग्राहियों की शिकायतों को दरकिनार कर रोजगार सहायक संतोष पटैल को दिनांक 28.10.2021 को ग्राम पंचायत परसेल का सचिवीय प्रभार देने हेतु अनुमोदन कर दिया और अब जांच में वित्तीय अनियमितताओं का दोषी पाए जाने के बाद भी जांच प्रतिवेदन प्राप्ति के एक माह बाद भी भ्रष्ट रोजगार सहायक संतोष पटैल को वित्तीय प्रभार दिए बैठे हैँ इससे सी. ई. ओ. जिला पंचायत कटनी जगदीश चंद्र गोमे की प्रशासनिक कार्य प्रणाली पर सवालिया निशान लगना स्वाभाविक है कि आखिर एक भ्रष्ट एवं दोष सिद्ध आरोपी रोजगार सहायक से अब तक क्यों याराना निभा रहे हैं।

 

ग्राम पंचायत परसेल में मनरेगा से संतोष पटैल द्वारा कराए समस्त निर्माण कार्यों के मास्टरोलों की यदि जांच की जाए तो कई लाखों रुपए का घोटाला सामने आएगा एवं कमीशन खोर फर्जी मजदूरों एवं भ्रष्ट मेटों के चेहरे भी बेनकाब हो जाएंगे

Related Articles

error: Content is protected !!
Close