उत्तरप्रदेशचित्रकूट

ग्रामपंचायत की हालत बद से बदतर लाखो की राशि खा गए भ्रष्टाचारी

खंड विकास अधिकारी की छत्रछाया में भ्रष्टाचार का चला खुला खेल

ग्रामपंचायत की हालत बद से बदतर लाखो की राशि खा गए भ्रष्टाचारी

खंड विकास अधिकारी की छत्रछाया में भ्रष्टाचार का चला खुला खेल

चित्रकूट।जनपद के खंड विकास कर्वी के ग्राम पंचायत अकबरपुर में पूर्व कार्यकाल 2019-20 में विकास के साथ भ्रष्टाचार का जमकर पहिया घूमा है। जहां ग्राम पंचायत में विकास के नाम पर लाखों रुपए की धनराशि खर्च की गई है। तो वहीं विकास ग्राम पंचायत में नजर नहीं आ रहा गांव की हालत बद से बदतर है लेकिन ग्राम पंचायत के द्वारा लाखों रुपए की धनराशि का वारा न्यारा किया गया है। ग्रामीणों का कहना है कि पिछले 5 वर्ष में कराए गए प्रधान द्वारा विकास कार्यों की जांच की जाए तो लाखों रुपए के गबन का मामला प्रकाश में आ सकता है ग्रामीणों ने बताया कि गांव में जमकर निर्माण कार्यों पर भ्रष्टाचार हुआ है निर्माण कार तो नहीं दिख रहा है परंतु शासन की राशि ग्राम प्रधान व सचिव के द्वारा उच्च अधिकारियों से मिलीभगत कर के पार कर दी गई है। स्थानीय निवासी पत्रकार अश्विनी श्रीवास्तव ने बताया कि पूर्व में ग्राम पंचायत में हुए विकास कार्यों की जांच के लिए कई बार खबर के माध्यम से पर्दाफाश किया गया लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों के द्वारा किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की गई और यही वजह है कि गांव में ग्राम पंचायत भवन के साफ-सफाई व अन्य कई रिपेयरिंग के नाम पर लाखों रुपए की राशि फर्जी रूप से निकाली गई है।

कहां कहां फर्जी रूप राशि का किया गया बंदरबांट- कोमल सिंह के घर से रमेश के घर तक आर सीसी मरम्मती करण के नाम पर 1 लाख,ध्यान सिंह के घर से प्राथमिक विद्यालय तक आर सीसी 1लाख 20 हजार,टिटिहरा रोड संपर्क मार्ग से बगइचा तक मोरमी करण के नाम पर 1लाख,टँकी स्थल की मरम्मती करण एवं साफ सफाई के नाम पर 1लाख, प्राथमिक विद्यालय गौतम बुद्ध नगर में सुंदरी करण के नाम पर 7 लाख, पेयजल टँकी की पाइप लाइन मरम्मत वर्क के लिए 4 लाख, खड़ंजा निर्माण कार्यो में कई लाख रुपए अवैध व फर्जी रूप से निकाले गए हैं इन स्थानों में ग्राम पंचायत सचिव व ग्राम प्रधान के द्वारा खंड विकास अधिकारी व जांच रिपोर्ट अधिकारी से सांठगांठ करके फर्जी रूप से शासकीय धन राशि निकाल ली गई है ।और आपस में बंदरबांट कर सरकार के राजस्व को लाखों रुपए की क्षति पहुंचाई गई है। जबकि वास्तविक रूप से किसी तरह के कोई कार्य नहीं किए गए हैं आज भी गांव की हालत बद से बदतर है। यदि हम पानी टंकी व पाइपलाइन की बात करें तो जगह जगह पर पाइप लाइन क्षतिग्रस्त है। लेकिन भ्रष्टाचारियों ने शासन के आंखों में धूल झोंकते हुए अपने पद का दुरुपयोग कर शासकीय राशि को ठिकाने लगाने का 5 वर्ष तक कार्य किया है। यदि जमीनी स्तर पर जिलाधिकारी के मार्गदर्शन में भ्रष्टाचार की जांच की जाए तो वह दिन दूर नहीं होंगे जब भ्रष्टाचारी सलाखों के पीछे नजर आएंगे।

हैंडपंप मरम्मत व रिबोर नाम पर शासकीय राशि का बंदरबांट – अकबरपुर ग्राम पंचायत में रिबोर दिखाकर व्यक्तिगत हितों के लिए शासकीय राशि का दुरुपयोग किया गया है और निर्धारित क्षमता से ज्यादा गहरा बोर दिखाकर मन मुताबिक शासकीय धनराशि को बैठने का कार्य किया गया है ग्राम पंचायत के आश्रित गांव में वास्तविक रुप से कराए गए रिबोर की जांच की जाए तो बड़ा भ्रष्टाचार सामने आएगा जिसमें 80फीट के बोर को 200 फीट से ऊपर बोर दिखाकर राशि का बंदरबांट किया गया है।

ग्रामीणों का कहना- ग्रामीण अशोक कुशवाहा ,राजकरन,सहित कई समाजसेवियों ने बताया कि अकबरपुर ग्राम पंचायत में पूर्व के 5 वर्ष विकास के नहीं भ्रष्टाचार के कार्यकाल थे। जिसमें भ्रष्टाचारियों ने गांव के स्कूल सड़क नाली व साफ-सफाई संबंधित कई कार्यो में शासकीय धन राशि का जमकर बंदरबांट किए हैं जबकि गांव की नालियां वह मरम्मत के नाम पर जो लाखों रुपए की राशि निकाली गई है उसमें भ्रष्टाचारियों के द्वारा एक भी दिन निर्माण कार्य नहीं किया गया नाही ₹2 लाख की धनराशि खर्च की गई है यदि लोकायुक्त की जांच कराई जाए तो परत दर परत बड़े भ्रष्टाचार का खुलासा होगा।

उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई एवं जांच के दिए थे सख्त निर्देश- उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार के द्वारा भ्रष्टाचारियों पर अंकुश लगाने के लिए सख्त निर्देश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा दिए गए हैं। कड़े शब्दों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने जिले के उच्च अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि ग्राम पंचायतों की शिकायत मिलने पर ग्राम प्रधान व सचिव की टीम गठित कर जांच कराई जाए और भ्रष्टाचारियों को बक्सा ना जाए लेकिन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के यह सपने चित्रकूट जिला में पूर्ण रूप से फेल होते नजर आ रहे हैं जिले के उच्च अधिकारियों की कार्यशैली एवं भ्रष्टाचारियों की अच्छी जिले के उच्च अधिकारियों से पकड़ होने की वजह से ग्राम पंचायतों में लाखों रुपए का भ्रष्टाचार किया गया जिसमें कर्वी खंड विकास के ग्राम पंचायतों में जमकर 14वें 15वे वित्त की धनराशि का दुरुपयोग किया गया है लेकिन आज तक ना तो ग्राम पंचायतों की जांच हुई न ही भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई और यही वजह है कि ग्राम प्रधान व ग्राम सचिव दिन रात चौगुनी ग्राम पंचायत के विकास कार्यों के स्थान पर स्वयं के विकास को बढ़ा रहे हैं और ग्राम पंचायत की धनराशि लूट कर मालामाल हो रहे हैं वही अब देखना यह है कि चित्रकूट जिले के खंड विकास कर्वी के ग्राम पंचायत अकबरपुर में किए गए भ्रष्टाचार की कब वास्तविक जांच होती है और दोषियों पर कब कार्रवाई की जाएगी।

Tags

Related Articles

error: Content is protected !!
Close