मध्यप्रदेश

बस मालिकों की मनमानी एवं अवैध रूप से बसों का संचालन

कलयुग की कलम

बस मालिकों की मनमानी एवं अवैध रूप से बसों का संचालन

KKK न्यूज ढीमरखेड़ा

ढीमरखेड़ा क्षेत्र मैं बसों का संचालन अवैध रूप से चल रहा है जिसकी शिकायतें कई बार थाना ढीमरखेड़ा मैं दी गई जिसका किसी भी प्रकार से कोई असर नहीं पड़ता

कहीं का परमिट कहीं चलती है बस परमिट रामपुर टू सिहोरा है वहां पर बस का संचालन पाली टू जबलपुर किया जा रहा है बस नंबर एमपी 21 p a 0307 है इस कंपनी की एक और बस जिसका परमिट पाली तो है लेकिन * गोपालपुर होकर पाली जाने का बस चल रही ढीमरखेड़ा होते हुए पाली बस कंडक्टर मोहित शुक्ला हेल्पर रामदयाल यादव के द्वारा लोगों से अभद्र वातावरण कर अवैध रूप से किराया लिया जाता है जहां मझगवां किराया ₹40 है वहां पर ₹50 लिया जाता है पिंडरई टू

सिहोरा₹50 वहां पर ₹60 लिया जात है पिंडरई टू जबलपुर 80km की लीड पर ₹120 किराया लिया जाता है बसों पर किराया सूची भी नहीं ड्राइवरों के पास वर्दी नहीं कांट्रेक्टर।के पास लाइसेंस नहीं बिना लाइसेंस के चल रहे कंडक्टर हेल्पर के द्वारा मनमानी लगेज वसूला जाता है कोविड-19 जैसे महामारी के नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए नजर आते हैं जयसवाल ट्रैवल्स बस स्टॉप बस मालिक अनुरोध जयसवाल के द्वारा इस प्रकार की हरकतें हो रही जिस पर आरटीओ के द्वारा किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जाति जो किराया लग्जरी बसों पर आदेश किया गया है वही किराया इन खटारा बसों में लिया जाता है जिनकी डेट भी निकल चुकी है एसी बसें भी अनुरोध जैस्वाल के द्वारा परिवहन किया जाता है एवं इनकी बस। के टाइम टेबल का भी कोई पता नहीं चलता की कौन सी बस का क्या टाइम है 7:00 की गाड़ी 8:00 बजे जा रही 8:00 की गाड़ी 9:00 बजे जा रही 6:00 की गाड़ी 7:00 बजे जा रही है इस प्रकार से अवैध रूप से बसों का संचालन किया जा रहा हैऐसे में ग्रामीणों के द्वारा हस्तक्षेप करने पर बस स्टॉप के द्वारा धमकी दी जाती है कि जिसे जो करना हो कर ले हम लोग इसी प्रकार से बसों का संचालन करते रहे गे इस प्रकार से ग्रामीणों के द्वारा शिकायत दी गई की आरटीओ से ग्रामीण अपील करते हैं पी आरटीओ के द्वारा इन बसों पर हस्तक्षेप कर उचित कार्यवाही की जाए एवं इस प्रकार से मोटर मालिकों की गुंडागर्दी पर भी हस्तक्षेप किया जाए एवं क्षेत्रीय थाना प्रभारियों से भी ग्रामीणों की अपील है कि जिस प्रकार से दोपहिया गाड़ियों की चेकिंग की जाती है उसी प्रकार से बसों के भी टाइम टेबल एवं ड्राइवर कंडक्टर ओके लाइसेंस चेक किए हैं जो कि बिना लाइसेंस के अवैध रूप से चल रहे हैं।

 

Related Articles

error: Content is protected !!
Close