UNCATEGORIZED

प्रमुख सचिव/नोडल अधिकारी ने शंकरगढ़ के जनवा कान्हा गौशाला, बक्शी बांध के पास निर्माणाधीन पानी की टंकी तथा पराग डेरी प्लांट का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

प्रमुख सचिव/नोडल अधिकारी ने शंकरगढ़ के जनवा कान्हा गौशाला, बक्शी बांध के पास निर्माणाधीन पानी की टंकी तथा पराग डेरी प्लांट का किया निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

प्रयागराज प्रमुख सचिव, दुग्ध विकास, मत्स्य, समन्वय तथा पशुपालन विभाग/नोडल अधिकारी प्रयागराज श्री सुधीर गर्ग रविवार को शंकरगढ़ के जनवा में स्थापित कान्हा गौशाला, बक्शी बांध के पास निर्माणाधीन पानी की टंकी तथा बमरौली के पास स्थित पराग डेरी प्लांट का निरीक्षण किया। प्रमुख सचिव ने कान्हा गौशाला जनवा में पहुंचकर निराश्रित गौवंशों के टीकाकरण, चारा, पीने के पानी, प्रकाश एवं निराश्रित गौवंशों के रख-रखाव की व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की। मुख्य पशुचिकित्साधिकारी ने बताया कि कान्हा गौशाला में रह रहे निराश्रित गौवंशों का टीकाकरण करा लिया गया है, चारा, भूषा का पर्याप्त मात्रा में स्टाॅक उपलब्ध है। नोडल अधिकारी ने मुख्य पशुचिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि कान्हा गौशाला में निराश्रित गौवंशों के गोबर से गमलें का निर्माण किये जाने की कार्य योजना बनाये। उन्होंने कहा कि गोबर के गमले से पर्यावरण शुद्ध रहेगा तथा गौशाला को इससे आय भी प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि गोबर के गमले शहर में स्थापित नर्सरियों को उपलब्ध कराने की व्यवस्था के सम्बंध में भी कार्य योजना में शामिल किये जाने के लिए कहा है। उन्होंने निराश्रित गोवंशों के गोबर से गोबर गैस प्लांट स्थापित करने तथा उससे बिजली की उत्पादकता की कार्ययोजना भी बनाये जाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि इससे गौशाल में विद्युत की निर्भरता कम होगी और स्वंय के द्वारा निर्मित विद्युत का उपयोग कर सकेंगे। नोडल अधिकारी ने कहा कि स्थानीय लोगो को भी इस बात के लिए प्रेरित किया जाये कि वे कान्हा गौशाला से गोबर की खाद ले जाये और उसके बदले में हरा चारा गौवंशों के लिए दे। उन्होंने खाली जमीन पर वृक्षारोपण एवं चारागाह विकसित करने के लिए कहा है। इसके उपरांत नोडल अधिकारी ने बमरौली के पास स्थिति पराग डेरी प्लांट का भी निरीक्षण किया वहां पर उन्होंने पराग डेरी प्लांट के जनरल मैनेजर से डेरी प्लांट के बारें में जानकारी प्राप्त करते हुए कहा कि प्रतिदिन कितने लीटर दूध इकट्ठा होता है, इस पर उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में लगभग प्रतिदिन 12 हजार लीटर दूध एकत्रित किया जाता है। नोडल अधिकारी ने जनरल मैनेजर को और अधिक मात्रा में दूध का कलेक्शन करने के लिए कहा है साथ ही साथ उन्होंने उसकी गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा है। इसी क्रम में नोडल अधिकारी ने बक्शी बांध के पास निर्माणाधीन पानी की टंकी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने टंकी के निर्माण कार्य को गुणवत्ता के साथ समय से पूर्ण करने के निर्देश दिये है। उन्होंने गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने के लिए कहा है। इस अवसर मुख्य विकास अधिकारी श्री शिपू गिरि, नगर आयुक्त श्री रवि रंजन, मुख्य पशुचिकित्साधिकारी श्री आर0पी0 राय सहित अन्य सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close