UNCATEGORIZED

👍बिजली की मनमानी : व्यापारिक एवं सामाजिक संगठनों को विंध्य पुनर्निमाण मंच ने लिखा पत्र पावर हाउस प्रेम नगर में सत्याग्रह आज : जिला संयोजक ने की सहभागिता निभाने की अपील

कलयुग की कलम

👍बिजली की मनमानी : व्यापारिक एवं सामाजिक संगठनों को विंध्य पुनर्निमाण मंच ने लिखा पत्र

👍पावर हाउस प्रेम नगर में सत्याग्रह आज : जिला संयोजक ने की सहभागिता निभाने की अपील

*सतना। सतना सहित समूचे विंध्य क्षेत्र के जिला मुख्यालयों में बिजली की विभिन्न समस्याओं को लेकर शनिवार 4 सितंबर को होने वाले सत्याग्रह आंदोलन के सिलसिले में जिला संयोजक विवेक अग्रवाल ने समस्त व्यापारिक एवं सामाजिक संगठनों के अध्यक्ष व महामंत्री को पत्र लिखा है, जिसमें उन्होंने आंदोलन में सहभागिता निभाने की अपील की है।*

पत्र में श्री अग्रवाल ने बताया कि विधायक नारायण त्रिपाठी के नेतृत्व में मध्यान्ह 12 बजे से प्रारंभ होने वाले सत्याग्रह के लिए विंध्य पुनर्निर्माण मंच इसलिए बाध्य हुआ है कि सत्ता से जुड़े हमारे जनप्रतिनिधियों को भी विद्युत कंपनी नजरअंदाज कर रही है। अघोषित कटौती के साथ मेंटेनेंस में लापरवाही के चलते ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में रात दिन बिजली ट्रिप हो रही है। ट्रांसफार्मरों की कमी, खराबी और अधोसंरचना के ध्वस्त होने के कारण विभाग में समन्वय का अभाव है। स्थानीय अधिकारियों से चर्चा करने पर वे सारी व्यवस्था जबलपुर में सेंट्रलाइज्ड होने का हवाला देकर अपनी जिम्मेदारी से बच रहे हैं।

इसके विपरीत बिजली की दरों में बेतहाशा वृद्धि कर दी गई है। बिजली कनेक्शन के लिए लोगों को खंभे और ट्रांसफार्मर लगाने के लिये लाखों रुपए के डिमांड नोट जारी किये गये हैं। उन्होने

याद दिलाया कि इसी प्रकार की अव्यवस्था के खिलाफ 2003 के पहले सतना के लोगों ने लालटेन आंदोलन जैसा प्रभावशाली प्रतिकार किया था जिससे बिजली की समस्या का हल निकला था। लेकिन जिस आंदोलन के फलस्वरूप प्रदेश में भाजपा सरकार आई थी, अब उसी सरकार के लोग बिजली की समस्या के प्रति गंभीर नहीं है।

खेती-किसानी से लेकर उद्योग धंधे और आम आदमी का जीवन, बिजली विभाग को मोटा बिल देने के बावजूद बद से बद्तर स्थिति में पहुंच गया है।

विंध्य पुनर्निमाण के जिला संयोजक विवेक अग्रवाल ने सभी संगठनों और आम बिजली उपभोक्ताओं से अपील कि है कि दलगत भावना से ऊपर उठकर अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर इस अव्यवस्था के खिलाफ आवाज मुखर करें।

 

Related Articles

error: Content is protected !!
Close