मध्यप्रदेश

तबादला उद्योग से शिक्षक विहीन हुए ग्रामीण स्कूल,,,, वर्तमान मे एक बार फिर से शासन  की दोषपूर्ण ट्रांसफर नीति के कारण थोक में तबादले होने की चर्चा गरमाने लगी हैं

कलयुग की कलम डॉट कॉम न्यूज

तबादला उद्योग से शिक्षक विहीन हुए ग्रामीण स्कूल,,,, वर्तमान मे एक बार फिर से शासन  की दोषपूर्ण ट्रांसफर नीति के कारण थोक में तबादले होने की चर्चा गरमाने लगी हैं आंख मूंद कर सांठ गांठ कर शिक्षक अपना ट्रांसफर कराने में लगे है जिसमे डीईओ और और कुछ बाबू भी इस खेल मैं सामिल हैं,, अधाधुंध तबादलो से ग्रामीण क्षेत्र के बहुत से स्कूल शिक्षक बिहीन हो गए हैं शिक्षको में तबादले कराने की होड़ लगी है सभी शिक्षक गांवों से शहर की ओर पलायन कर गए जो शेष बचे हैं वो भी प्रभारी मंत्री से ट्रांसफर कराने की जुगत में हैं,, ओर शिक्षा विभाग के अधिकारी आंख मूंदकर ट्रांसफर कर रहे हैं ,, ढीमर खेड़ा विकास खण्ड के ग्रामीण क्षेत्रों के भ्रमण के बाद बड़ी चौकाने वाली रिपोर्ट आई है की ट्रांसफर के इस घिनौने खेल से बहुत सी स्कूल शिक्षक बिहीन हैं कुछ जगह एक ही शिक्षक है जिससे जनहितैषी भाजपा सरकारकी पोल सामने हैं ,, अंधेर नगरी चौपट राजा वाली कहावत सही हैं मसलन सासन की इस नीति के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में तबादले से व्यापक रोष हैं

Related Articles

error: Content is protected !!
Close