मध्यप्रदेश

गौहनिया पुलिस चौकी के सामने दिन दहाड़े पत्रकार के साथ मार पीट करते हुए मोबाइल तथा पैसा छीना रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

गौहनिया पुलिस चौकी के सामने दिन दहाड़े पत्रकार के साथ मार पीट करते हुए मोबाइल तथा पैसा छीना

रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

पत्रकारों के साथ हो रहे अपराध रुकने का नाम नहीं ले रहे

 प्रयागराज जनपद के घूरपुर थाना क्षेत्र के गौहनिया चौकी अंतर्गत गौहनिया बाजार में एक पत्रकार के साथ दिनदहाड़े मारपीट और की गई लूटपाट की घटना को अन्जाम दिया गया । मिली जानकारी के अनुसार घूरपुर थाना क्षेत्र के गौहनिया चौकी के सामने गुरुवार को शाम 5:00 बजे सरे-आम बाजार में हो रही मारपीट को कवरेज करने के लिए पत्रकार राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ पिंटू सिंह जारी ने जब मारपीट को कवरेज करने की कोशिश की उसी दौरान मारपीट कर रहे युवको ने पत्रकार को देख के उनका का पारा गरम हो गया और पत्रकार पिंटू सिंह के साथ गौहनिया चौकी से महज 15 मीटर की दूरी पर मारपीट करते हुए दिनदहाड़े लूटपाट की गई । जिसमें पत्रकार पिंटू सिंह ने मारपीट कर रहे यूवको को ग्रामीणों की मदद से धर दबोचा और गौहनिया पुलिस के हवाले किया लेकिन इतनी बड़ी घटना हो रही थी और गौहनिया चौकी पर पुलिस बैठी तमाशा देख रही थी जिससे यह मामला देख क्षेत्र के लोगों में दिनदहाड़े एक पत्रकार के साथ मारपीट लूटपाट करते उनके होश उड़ गए जबकि भुक्तभोगी पत्रकार ने घूरपुर थाना अध्यक्ष को अपने साथ किए गए मारपीट और लूटपाट की लिखित रूप से तहरीर दिया इसके बावजूद घूरपुर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने के बजाय,धारा 151 सीआरपीसी के तहत शान्ति भंग में चालान कर दिया गया। जबकि घूरपुर पुलिस पत्रकार के साथ हुई घटना को एकदम हल्के में ले रही है जबकि आरोपी आकाश पुत्र दुर्विजय सिंह निवासी गंज थाना घूरपुर तथा राजीव पुत्र मूलचन्द निवासी बुदांवा थाना घूरपुर ने थाना परिसर में देख लेने की धमकी दे डाली जिससे भुक्तभोगी पत्रकार ने दिनदहाड़े हुई घटना को लेकर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज से गुहार लगाई है कि तत्काल आरोपियों के खिलाफ मारपीट और लूटपाट का मुकदमा दर्ज कर उनके खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई की जाए। वही उनके द्वारा बताया गया कि इन आरोपियों से हमें जान माल का भी भय बना हुआ है अगर इनके खिलाफ कठोर कार्रवाई नहीं की गई तो कभी भी यह हमारे ऊपर जानलेवा हमला कर सकते हैं जैसा कि 2 दिन पहले खीरी थाना क्षेत्र में एक पत्रकार की अज्ञात बदमाशों द्वारा निर्मम हत्या कर दी गई और अभी तक आरोपी पुलिस से कोसों दूर हैं अगर समय रहते पत्रकारों के सुरक्षा के लिए प्रदेश सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठाएगी तो पत्रकारों के साथ आये दिन मारपीट लूटपाट और हत्याएं जैसी जघन्य अपराध होते रहेंगे ।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close