UNCATEGORIZED

कोरोना पर नियंत्रण के लिए गाइडलाइंस का पालन जरूरी- मोहित त्यागी

कलयुग की कलम

कोरोना पर नियंत्रण के लिए गाइडलाइंस का पालन जरूरी- मोहित त्यागी

कलयुग की कलम

श्री सिद्धिविनायक फाऊंडेशन (SSVF) के राष्ट्रीय महासचिव व वरिष्ठ समाजसेवी मोहित त्यागी का कहना है, देश कोरोना संक्रमण की भयावह महामारी से जूझ रहा है, घातक महामारी के प्रकोप ने ना जाने कितने लोगों के बहुत अनमोल जीवन को लील लिया है। पहली व दूसरी भयंकर लहर के बाद अब विशेषज्ञ तीसरी लहर जल्द आने का अंदेशा जता रहे हैं। देश के विभिन्न राज्यों में बचाव के लिए लंबे समय से चल रहे कोरोना कर्फ्यू में अब प्रदेश सरकारों की तरफ से चरणबद्ध तरीक़े से ढील मिलनी शुरू हो गई है। जिसके चलते एकाएक बाजारों व हिल स्टेशनों पर जबरदस्त भीड़भाड़ की बेहद चिंताजनक स्थिति देखने को मिल रही है। हिमाचल प्रदेश के एक शहर के बाजार में उमड़ी पर्यटकों की भारी भीड़ के वीडियो व फोटोग्राफ पूरी दुनिया में वायरल हो रहे हैं, लोग आश्चर्यचकित हैं कि कुछ माह पहले एक-एक ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए, अस्पतालों में इलाज के लिए, दवाई व इंजेक्शनों के लिए बहुत अधिक परेशानी उठाने वाले लोग आखिर ऐसी भयंकर गलती कैसे कर सकते हैं। जबकि दुनिया भर के डॉक्टर लगातार कह रहे हैं कि कोरोना बीमारी का सबसे कारगर इलाज बचाव ही है।

लेकिन कुछ लोग हैं कि उनका सुधारने का नाम नहीं है, जबकि सरकार व चिकित्सक सतर्कता बरतने के साथ अक्षरशः कोरोना गाइडलाइन का पालन करने पर लगातार जोर दे रहे हैं। लेकिन फिर भी कुछ लोग कोरोना से बचाव के नियमों का सही ढंग से पालन ना करके, खुद अपना, अपने परिजनों का व नियम-कायदे-कानून पसंद बहुत सारे लोगों के जीवन को खतरें में डालने का कार्य कर रहे हैं। जबकि सभी कोरोना विशेषज्ञ, वरिष्ठ चिकित्सक व सरकार का निरंतर कहना है कि अगर लोगों ने सख्ती के साथ सभी कोरोना गाइडलाइंस, दो गज की दूरी, मास्क पहनने, हाथों को बार-बार धोने व सेनेटाइज करने, टीकाकरण करवाने, भीड़ लगाने से बचने आदि जैसे नियमों का पालन नहीं किया, तो देश में कोरोना तीसरी लहर के रूप में फिर से लौट सकता है। इसलिए देशहित, जनहित व खुद की और अपने सभी प्रिय परिजनों की शारीरिक व आर्थिक सेहत को हर हाल में सुरक्षित रखने के लिए सरकार के द्वारा तय कोरोना गाइडलाइंस का पालन अवश्य करें, समय रहते वैक्सीन अवश्य लगवाएं बचाव के सभी नियमों का सही ढंग से पालन करके खुद सुरक्षित रहे व दूसरों को भी सुरक्षित रखें।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close