UNCATEGORIZED

“पिस्सू काल में ….बिच्छु गैंग का आतंक”….

कलयुग की कलम

“पिस्सू काल में ….बिच्छु गैंग का आतंक”….

सभी जल्वेदारों को जलवा प्रणाम🙏

कोरोना पिस्सू के पिछले दो सीजन में हमने कई अपनों को खो दिया है या यूं कहें कि कोरोना काल में हमारे अपने अकाल मौत के गाल में समा गए…. ऐसे भयानक समय के बाद अब थोड़ी बहोत राहत हमें मिली है…लेकिन वर्तमान में अब “बिच्छु गैंग” का आतंक छाया हुआ है….ये गैंग जिसका नामकरण हमने ही किया है…ये वो गैंग है जो लोगों को फाइनेंस दे कर उनसे अच्छा खासा ब्याज वसूल कर मोटा मुनाफा कमाती है…लेकिन इस गैंग के गुंडे इंसानियत छोड़ कर हैवानियत पर उतारू हो गए हैं….. क़ानून कायदों को घोल कर पी चुके ये हैवान अपनी दादागिरी के दम पर लोगों को परेशान किए हुए हैं…जबकि इन्हें क़ानून ने अपनी हद में रहने की हिदायत दे रखी है…इनकी हैवानियत का आज मैं ख़ुद चश्मदीद रहा हूँ….

“मरहूम को भी नहीं छोड़ना तो दूर….मोहलत तक नहीं दे रहे हैवान”…..

मैं मानता हूँ कि आप सुधि पाठक सोच रहे होंगे कि जब फाइनेंस करवाया है तो भरना तो पड़ेगा…और ये बात सही भी है लेकिन जो व्यक्ति क़िस्त भर रहा हो और कोरोना काल में संक्रमित हो कर अपने प्राण त्याग चुका हो…जिसका एक बड़ा भाई भी बेवक़्त जीवन से विरक्त हो गया हो…जिसका पूरा 14 सदस्यी परिवार भी संक्रमण का दंश झेल चुका हो….उस व्यक्ति के परिजनों को थोड़ी मोहलत तो मिलना लाज़मी है…इंसानियत के नाते ना सही कानून के नाते ही सही…क्योंकि अभी तो हाईकोर्ट का भी स्टे है ऐसी वसूलियों पर….लेकिन वसूलीदार गुंडे ये बात मानने को कतई तैयार नहीं हैं…और धौंस डपट धमकी के साथ हाथापाई मारपीट पर आमादा हैं…उनका कहना है क़ानून और पुलिस हमारा कुछ नहीं बिगाड़ सकते…सब हमारी जेब में हैं….

“क्या है मामला”…..

दरअसल गुरुवार की सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे नीलगंगा थाना क्षेत्र के विद्यापति नगर के सीतलामाता सेक्टर में दो गाड़ियों में करीब 10 लोगों आए और एक कार को सिजिंग की गाड़ी में अटकाने लगे…इसी बीच जिस परिवार की वो कार थी वो आवाजें सुन कर बाहर आये तो ये दृश्य देख कर स्तब्ध रह गए…परिवार के दूसरे सदस्य भी बाहर आ गए…बातों बातों में गुंडों ने इस सिकरवार परिवार से विवाद शुरू कर दिया और देखते ही देखते धौंस डपट से शुरू हुआ मामला धक्का-मुक्की धमकी से होता हुआ हाथापाई तक पहुंच गया…ये मंजर पूरे करीब एक घण्टे तक चला…जिससे पूरे क्षेत्र में दहशत और शांति भंग हो गई…मोहल्ले वालों ने बीच बचाव किया तो उन्हें भी इन गुंडों की धमकी का सामना करना पड़ा… अभिभाषक ब्रह्म सिंह और उनके भाई यशपाल सिंह जिनकी मृत्यु हाल ही मैं कोरोना से हुई है…इनके बड़े भाई का निवास विद्यापति नगर में है…मरहूम ब्रह्म सिंह ने *एस के फिनकॉर्प लिमिटेड कंपनी* से कार फाइनेंस करवाई थी जिसकी किश्त वो बाक़ायदा जमा भी करते रहे…इसी बीच लॉक डाउन लग गया और वो कोरोना संक्रमित हो गए काफी दिन इलाज के बाद उनकी दुःखद मृत्यु हो गई…गुरुवार को ही ब्रह्म सिंह के भाई फाइनेंस कंपनी में सेटलमेंट के लिए जाने वाले थे कि उससे पहले ही कंपनी के गुंडों ने ये कृत्य कर दिया….

“बीच बचाव नहीं होता तो हो जाता कुछ अप्रिय”….

फाइनेंस कंपनी के उठाई गिरे गुंडों को अगर क्षेत्रवासी नहीं भगाते तो कुछ भी अनहोनी हो जाती…क्योंकि दानव जैसे डील डॉल वाले गुंडे पूरी तैयारी से ही आए थे…जिनकी एक जेब में क़ानून और दूसरी में पोलिस थी…जैसा वो चिल्ला चिल्ला कर बोल रहे थे….

“संघ लेगा संज्ञान”….

इस पूरे मामले पर पुलिस संज्ञान ले या ना ले लेकिन मंडल अभिभाषक संघ संज्ञान जरूर लेगा…संघ के अध्यक्ष अशोक यादव और सचिव प्रकाश चौबे ने दूरभाष पर चर्चा के दौरान जलवा की टीम को इस मामले में आश्वस्त किया है…. मरहूम अभिभाषक के परिजनों ने नीलगंगा थाने में आवेदन देकर मदद की गुहार भी लगाई है… फरियादी संपर्क 9907227986

लेकिन माननीय हाईकोर्ट ने जब ऐसे वसूली के मामलों में रहमी बरतने के लिए स्टे कर रखा है तो इन बाघड़बिल्लो की इतनी हिमाक़त कैसे हो रही है ये शोचनीय और चिंतनीय विषय है…ऐसे मामलों में तुंरत कार्यवाही की दरकार है…नानाखेड़ा थाना क्षेत्र में इन गुंडों का कार्यालय है…ऐसे में इनकी और थाने की कार्यप्रणाली भी संदेहास्पद है..अब देखना है कि जो पुलिस और क़ानून इनकी जेब हैं जैसा इन बाघड़बिल्लो ने कहा है वो क्या संज्ञान का ज्ञान लेते हैं…या फिर ऐसे ही इनकी कारगुजारियां मुसल्सल जारी रहेंगी….

चलिए अब मैं चलता हूँ फिर मिलने के वादे के साथ…लेकिन तब तक आप अपना जलवा क़ायम रखें…दुनिया जले तो जलने दें…..

आप जल्वेदारों में से एक जल्वेदार…..

जय कौशल ✍️उज्जैन (म.प्र.) 09827560667 07000249542

Related Articles

error: Content is protected !!
Close