UNCATEGORIZED

बिजली अवरोध और सर्वर डाउन ने टीकाकरण महाअभियान में किंचित खलल डाला

कलयुग की कलम

बिजली अवरोध और सर्वर डाउन ने टीकाकरण महाअभियान में किंचित खलल डाला

आदर्श केंद्रों में पेयजल और बैठक व्यवस्था को लेकर शिकायत

प्रेरक राजनेत्रियों की अरुचि तो काग़ज़ी योद्धाओं ने अधिकारियों के साथ कूदकर किया फोटोशूट

कटनी।शहर के 57 और गांव के 71 टीकाकरण केंद्रों में महावेक्सीनेशन अभियान की शुरुआत कल समाजसेवी संस्थाओं, जनप्रतिनिधि, अधिकारियों की प्रेरक उपस्थिति के बीच सुबह नौ बजे से शुरू होकर शाम तक चली,यह सिलसिला 30 जून तक बरकरार रहेगा।झूलेलाल मंदिर माधवनगर जिले का इकलौता केंद्र था जहां वैक्सिनेशन के लिए आने वाले नागरिकों के साथ मेहमाननवाजी की गई, चायपान से सत्कार किया और प्रतीक्षालय की बैठक व्यवस्थाएं सुविधाजनक रहीं।आदर्श केंद्र कचहरी में बिजली बंद ने घण्टों बाधा डाली और नागरिक गर्मी व प्यास से बेहाल रहे, कई लौट भी गए। साधुराम आदर्श केंद्र में वार्ड की पार्षद प्रतिनिधि शशि वेंकट खंडेलवाल प्रेरक के रूप में पहुंची ही नहीं,ननि के अधिकारी जागेश्वर पाठक ने औपचारिक उद्घाटन किया।रीठी की उमरिया ग्राम पंचायत केंद्र ने सबसे पहले टीकाकरण का शतक पूरा किया। मनोरंजन की बात यह भी थी कि इसमे भी कागजी इमेज बनाने वाले कोरोना वालंटियर कुछ केंद्रों में सरकारी अधिकारियों के निरीक्षण में पहुंचते ही उनके साथ फोटो खिंचाकर सोशल मीडिया पर व्यक्तिगत शेखियाँ बघारते रहे, जिनकी नौटँकी से टीका लगाने आए लोग मंद मंद मुस्कान छोड़ते रहे।
कटनी विधायक संदीप जायसवाल ने कन्हवारा टीकाकरण केंद्र में जाकर वैक्सिनेशन महाअभियान की शुरुआत की, इसके बाद अनेक केंद्रों का अवलोकन करते हुए दोपहर एक बजे के बाद जिले के तीन आदर्श केंद्र क्रमशः आडोटोरियम ,केसीएस, साधूराम शाला पहुंचे। कलेक्टर प्रियंक मिश्रा तथा बड़वारा विधायक विजयराघवेंद्र सिंह ने केंद्रों में जाकर नागरिकों को टीके का महत्व बताया और वैक्सिनेशन के लिए प्रेरित किया।
माधवनगर में देर रात तक घर घर पहुंचे वालन्टियर
माधवनगर झूलेलाल सेवा मंडल द्वारा कोरोना बीमारी से बचाव हेतु लगभग एक महीने से टीकाकरण कराया जा रहा है ,और अभी भी प्रतिदिन एक हजार गरीबजनो को कच्चा आहार देकर मदद की जा रही है । झूलेलाल सेवा मंडल के अध्यक्ष झम्मटमल थारवानी ने जानकारी देते हुए बताया कि 15 दिनों में एक हजार लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है । महाअभियान की पूर्व संध्या पर कोरोना जागरूकता रथ चलाकर माधवनगर के लोगो को जागरूक करने वलन्टियर रात दस बजे तक घर घर पहुंचे।
इस सेवाकार्य में झूलेलाल सेवा मंडल के अध्यक्ष झम्मटमल ठारवानी, खियल चावला, लक्षमण नन्दवानी, डॉ प्रेम जसूजा, बंटू रोहरा, जोधाराम जयसिंघानी, पायल जैतवानी आदि लगातार अपनी सेवा दे रहे है।
बीजेपी महिला पार्षदों ने विशेष रुचि नहीं ली
वैक्सिनेशन महाअभियान में बीजेपी के पूर्व निकाय जनप्रतिनिधियों को भी उनके वार्ड के केंद्रों में जागरूकता का प्रचार करने का नैतिक दायित्व दिया गया था। अधिकांश केंद्रों में पूर्व महिला पार्षदों की उपस्थिति शून्य रही। एक आदर्श टीकाकरण केंद्र साधुराम विद्यालय भी था जहां की पार्षद शशि वेंकट खंडेलवाल केंद्र के शुभारंभ पर हमेशा की तरह अनुपस्थित रहीं।
सर्वर डाउन, कहीं बिजली बंद
महाअभियान को अव्यवस्थाओं ने भी प्रभावित किया जिससे नागरिकों को कष्ट हुआ। जिला न्यायालय कैम्पस केंद्र को आइडियल सेंटर का खिताब दिया गया था यहां पर एक घण्टे बिजली बंद होने से नागरिक परेशान होकर वापस भी लौटे। क्योंकि आदर्श केंद्र में पेयजल की , बैठने की व्यवस्थाएं मृत थीं। बिजली जब आई तो स्वास्थ्य कार्यकर्ता लंच लेने लगे। इस पर नागरिक क्षुब्ध थे कि जब बिजली बंद थी तो उस समय लंच क्यों नहीं कर लिया गया आखिर दोपहर का डेढ़ तो बज ही गया था। अनेक केंद्रों में डिजिटल इंडिया का सर्वर डाउन होने से टीकाकरण की रफ्तार धीमी रही।
उम्मीद की जा रही है कि पहले दिन की असुविधाओं को देखते हुए अपेक्षित सुधार किए जाएंगे।
ऊपर के दो चित्र अव्यवस्था बताते नागरिकों के हैं
एक चित्र वैक्सिनेशन उद्घाटन करते विधायक का
एक चित्र पूर्व संध्या पर माधवनगर में प्रचार करते वलन्टियर का है।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close