मध्यप्रदेश

भूमाफिया ने बेच डाली सरकारी नाले की माटी     

कलयुग की कलम

भूमाफिया ने बेच डाली सरकारी नाले की माटी

सतना, (ओपी तीसरे)।लॉकडाउन क्या लगा, भू-माफियाओं की बल्ले बल्ले हो गई। सीधे सरकारी तंत्र से सांठगांठ करके भ-ूमाफिया लगभग 500 फिट तक नाले की मिट्टी खोद उसे धड़ल्ले से बेच कर एक बड़ी रकम इकट्ठा करने में कामयाब हो गया। यहां के लोगों को इस बात की खबर तब लगी जब भूमाफियाओं ने अपना काम डाल दिया था। फिलहाल सरहंग किस्म के कथित भूमाफिया के आगे कोई भी मुह खोलने को तैयार नहीं है। स्थानीय लोगों का मानना है कि कई अंधेरी रातों में यहां की सैकड़ों डम्फर मिट्टी को खोद कर भूमाफिया द्वारा बेच लिया गया है। इस गंभीर प्रकरण को देखने और सुनने वाला कोई नहीं है। यहां तो अब यह बात चरितार्थ हो रही कि ‘सैंया भये कोतवाल तो मोहि डर काहे का।’ खैर ये मामला तो प्रशासन व भूमाफिया के साठगांठ का है।
ये है मामला :-
महदेवा शेरगंज की महेश साहू व नंदलाल साहू की आराजी के मध्य पुस्तैनी नाला है। उस नाले को नंदलाल साहू जो अपनी निजी बपौती मानते हैं, जिसे विगत कई रातो में जेसीबी मशीन से कई सैकड़ा डम्फर माटी को बेचकर लाखों रुपए नंदलाल साहू डकार गए। सवाल यह उठता है कि जब जिला मुख्यालय से सटे महदेवा शेरगंज की शासकीय नाले को भूमाफिया ने बेच डाला और प्रशासन मूकदर्शक बना रहा, तो जिले के ग्रामीण क्षेत्रों का हाल क्या होगा ? इस बात का अंदाज़ा सहज ही लगाया जा सकता है। जो भी हो, फिलहाल इस मामले की शिकायत सोमवार को तहसीलदार व एसडीएम से लिखित तौर पर की गई है, पर प्रशासन द्वारा इस संदर्भ में अब तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं की गई। जबकि मामला गंभीर है। ठोस कार्यवाही के अभाव में मिट्टी खनिज माफिया के हौसले बुलंद हैं।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close