उत्तरप्रदेश

कोविड-19 के संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थायें पूर्ण रूप से रहे सुनिश्चित रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

डोर-टू-डोर सर्वे कार्यक्रम को और प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करते हुए प्रत्येक व्यक्ति जांच की कार्यवाही में लाये तेजी

ग्रामीण क्षेत्रों में सैनेटाइजेशन एवं साफ-सफाई के कार्यक्रम को अभियान के रूप में चलाये

जल संचयन हेतु रेन वाटर हार्वेस्टिंग कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से करें क्रियान्वित सांसद, प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी

प्रयागराज सांसद प्रो0 रीता बहुगुणा जोशी की अध्यक्षता में संगम सभागार में सम्भावित कोविड-19 की तीसरी लहर से बचाव की तैयारियों के सम्बंध में बैठक आयोजित की गयी। बैठक में सांसद महोदया ने आॅक्सीजन प्लांट, मेडिकल किट, वेंटीलेटर, पैरामेडिकल स्टाफ, वेलनेस सेंटर, एम्बुलेंस सेवा, रेमडिसिवर औषधी एवं ब्लैक फंगस हेतु किये जा रहे प्रबंध, टीकाकरण, ग्राम निगरानी समितियों, सैनेटाइजेशन, करछना सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन की स्थिति आदि के बारे में विस्तार से जानकारी ली। सांसद ने डोर-टू-डोर सर्वे कार्यों में और तेजी लाने के लिए कहा है। उन्होंने कहा कि डोर-टू-डोर सर्वे कार्य में लक्षणयुक्त लोग चिन्हित किये जाये उनको तत्काल मेडिकल किट प्रदान करते हुए नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र्रों पर उनकी कोविड-19 की जांच अनिवार्य रूप से कराना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने बताया कि 20-20 गांवों का क्लस्टर बनाकर निगरानी समितियों के माध्यम से सूची तैयार की जा रही है। उन्होंने सभी प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर सभी आवश्यक व्यवस्थायें चुस्त-दूरूस्त बनाये रखने के निर्देश दिये। उन्होंने सभी निर्माणाधीन आॅक्सीजन गैस प्लांटों के निर्माण कार्य को शीघ्रता से पूर्ण कराये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने प्रत्येक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर जांच कार्यवाही नियमित रूप से करते रहने के निर्देश दिये है। मा0 सांसद महोदया के द्वारा एम्बुलेंस के बारे में जानकारी लिये जाने पर जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड-19 में 32 एम्बुलेंस लगाये गयेे है। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में साफ-सफाई एवं सैनेटाइजेशन का कार्य अभियान के रूप में चलाये जाने के लिए कहा है। सांसद ने स्वतः रोजगार योजना के तहत महिला समूहों को निगरानी समितियों से जोड़ने के लिए कहा है। उन्होंने रैन हार्वेस्टिंग कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करते हुए जल संचयन के कार्य को वरीयता पर कराने के लिए कहा है। मा0 सांसद ने अनाथ बच्चों के परवरिश एवं बाल संरक्षण गृह के संचालन की स्थिति के बारे में जानकारी लेते हुए कहा कि इसके संचालन को और प्रभावी ढंग से किया जाये। मा0 सांसद ने टीकाकरण कार्यक्रम के बारे में और जनजागरूकता लाने के लिए कहा है। मा0 सांसद ने करछना सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन के मरम्मत हेतु आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए कहा है। मा0 सांसद ने करछना एवं जसरा के वैक्सीनेशन कार्यों की प्रशंसा की। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी-श्री शिपू गिरि, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 प्रभाकर राय एवं सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close