UNCATEGORIZED

लचर प्रबंधन से जलापूर्ति बाधित क्षेत्र की सबसे बड़ी पंचायत में पंचायतकर्मियों बने अधिकारी

कलयुग की कलम

लचर प्रबंधन से जलापूर्ति बाधित

क्षेत्र की सबसे बड़ी पंचायत में पंचायतकर्मियों बने अधिकारी

सिलौंड़ी:-पर्याप्त संसाधनों के बाद भी लचर प्रबंधन के चलते लगातार चर्चित होती जा रही सिलौंड़ी पंचायत एक बार फिर चर्चा में है और पूरी गर्मी चर्चा में बनी रही थी इसकी आशंका है।
गर्मी प्रारंभ होते ही बस्ती के विभिन्न हिस्सों में जल संकट बढ़ता जा रहा है जबकि पंचायत है कि अपने ढुलमुल रवैये से बाज़ नहीं आ रही।
अभी हाल ही में सबसे बड़े वार्ड क्रमांक 20 एवं वार्ड क्रमांक 1में जलापूर्ति पूर्णतः बाधित रही।
जानकारी में आया कि मोटर खराब हो जाने की वजह से जलापूर्ति नहीं हो पाई।
इनका प्रबंधन देखिए
समय बदल गया लेकिन इनका तरीका नहीं बदला मोटर खराब होने के दूसरे दिन निकाली जाती है,तीसरे दिन सुधारकार्य हेतु भेजी जाती है,
लगभग एक से दो दिन लगते हैं मोटर सुधारने में,मोटर आने के दूसरे दिन उसे बोर में लगाया जाता है।
पर्याप्त संसाधन फिर भी समस्या
ऐसा नहीं है कि पंचायत में पर्याप्त साधन नहीं है विगत वर्ष में जलस्तर कम होने के चलते कई बार कराए गए थे और विभिन्न बोरों से जलापूर्ति की जा रही है लेकिन किसी बोर की मशीन या कोई भी आवश्यक सामग्री खराब हो जाने पर उसे सुधार कर लगाने की प्रक्रिया में पंचायत द्वारा बहुत अधिक समय लगाया जा रहा है जिससे लोगों को असुविधा का सामना करना पड़ता है।
बेपरवाह न हो पंचायत
पंचायत की गतिविधियों को देखते हुए स्थानीय जागरूक जनों ने आगाह किया है कि पंचायत और पंचायत कर्मी इस तरह बेपरवाह ना हो कि आमजन आक्रोशित हो जाएं।
इस संबंध में जब ग्राम सरपंच को फोन लगाया गया तो उनके नंबर पर इनकमिंग सेवा का ना होना बताया गया जबकि ग्राम सचिव को फोन लगाने पर उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया👈

Related Articles

error: Content is protected !!
Close