मध्यप्रदेश

“केबिनेट मंत्री ऊषा ठाकुर का बयान सिद्ध करता हैं की नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन का रैकेट भाजपा के मंत्रियों का आपदा में लाभ के अवसर का उपक्रम “

कलयुग की कलम

“केबिनेट मंत्री ऊषा ठाकुर का बयान सिद्ध करता हैं की नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन का रैकेट भाजपा के मंत्रियों का आपदा में लाभ के अवसर का उपक्रम “

“केबिनेट मंत्री का द्वारा डाक्टरों की मेहनत एंव निष्ठा पर प्रश्न चिंह लगाते हुए डाक्टरों को अपमानित करने वाला बयान दिया”

“मुख्यमंत्री स्पष्ट करें की नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन से कोरोना मरीज़ की मौत नहीं हो रही..?”

“मंत्री ऊषा ठाकुर को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करें”

कलयुग की कलम

इन्दौर, नक़ली रेमडेसिविर से कोरोना मरीज़ों की ज़िंदगी सुरक्षित हो रही हैं लेकिन असली रेमडेसिविर इंजेक्शन से कोरोना मरीज़ों की मौत हो रही हैं,यह बयान हैं शिवराज सरकार की केबिनेट मंत्री ऊषा ठाकुर का।
म.प्र.कॉंग्रेस कमेटी क प्रदेशसचिव राकेश सिंह यादव ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से सवाल करा हैं की क्या नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने और बनाने वालों की सरग़ना केबिनेट मंत्री ऊषा ठाकुर हैं .?
जिस तरह से केबिनेट मंत्री नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वालों के समर्थन में खड़ी हैं इससे तो यह लगता हैं की भाजपा के मंत्रियों का आपदा को लाभ का अवसर बनाकर नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वालों के साथ सहभागिता साबित हो रही हैं।वहीं केबिनेट मंत्री डाक्टरों को अपमानित करके उनकी योग्यता एंव ईमानदारी पर प्रश्न चिंह लगाकर यह आरोप लगा रही हैं की डॉक्टरों द्वारा असली रेमडेसिविर इंजेक्शन का अधिक डोज़ देने से कोरोना मरीज़ों की मौत हो रही हैं लेकिन नक़ली रेमडेसिविर से कोरोना मरीज़ों का जीवन बच रहा हैं।यह बयान डाक्टरों का घोर अपमान हैं,लगातार चौबीस घंटे मरीज़ों की सेवा में लगे डॉक्टरों की सेवा पर कुठाराघात हैं।शिवराज सरकार के अनपढ़ मंत्री अब कोरोना मरीज़ों के ईलाज में दवाईयों का डोज़ कैसे दें यह समझायेंगे ?
म.प्र. के इतिहास का सबसे काला अध्याय हैं केबिनेट मंत्री का यह बयान जिससे यह सिद्ध होता हैं की नक़ली रेमडेसिविर बेचने और बनाने वालों के समर्थन में शिवराज सरकार खड़ी हुई हैं।लगता हैं गुजरात कनेक्शन के कारण केबिनेट मंत्री पीएम मोदी एंव शाह को खुश करने के लिए जघन्य अपराधियों को संरक्षण दिया गया हैं।
मुख्यमंत्री को स्पष्टीकरण देना चाहिए की केबिनेट मंत्री नक़ली रेमडेसिविर इंजेक्शन को जीवन बचाने वाला एंव असली रेमडेसिविर इंजेक्शन को मौत देने वाला बता रही हैं।अब सच क्या हैं ?
यह मुख्यमंत्री म.प्र. की जनता को स्पष्ट करें की केबिनेट मंत्री सच बोल रही हैं तो नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वालों को कोरोना योद्धा मानकर शिवराज सरकार सम्मानित करें।डाक्टरों द्वारा कोरोना संक्रमितों के ईलाज पर केबिनेट मंत्री ने प्रश्न चिंह लगाकर डाक्टरों का अपमान करा हैं क्या मुख्यमंत्री डाक्टरों से इस अपमान एंव अविश्वास जताने को लेकर माफ़ी माँगेंगे या फिर केबिनेट मंत्री ऊषा ठाकुर का बयान शिवराज सरकार का बयान मानकर सच माना जाये।मुख्यमंत्री स्पष्ट करें एंव केबिनेट मंत्री ऊषा ठाकुर को मंत्रीमंडल से बर्खास्त करें।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close