मध्यप्रदेश

इलाज के नाम पर मरीजों को मौत बांट रहे हैं सांसों के सौदागर “उमरिया पान में बन सकती है कोरोना की विस्फोटक स्थिति

कलयुग की कलम

इलाज के नाम पर मरीजों को मौत बांट रहे हैं सांसों के सौदागर

उमरिया पान में बन सकती है कोरोना की विस्फोटक स्थिति

जागरूक लोगों ने प्रशासन से की हस्ताक्षेप की मांग

Kkk न्यूज़

कटनी जिले की ढीमरखेड़ा तहसील के उमरिया पान इलाके में सक्रिय झोलाछाप डॉक्टर कोविड-19 के नियमों की सरेआम धज्जियां उड़ा रहे हैं। इनकी क्लीनिकों में वगैर मॉस्क के मरीज सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंगन करते नजर आते हैं। कमाई की लालच में तथाकथित डॉक्टर यह सब कुछ नज़र अंदाज कर उनका इलाज कर रहे हैं। इनकी गतिविधियों को देखने से तो यही अंदाज़ा लगाया जाता है जैसे स्वास्थ्य विभाग के मुखिया सीएमएचओ ने उन्हें ऐसा कृत्य करने की खुली छूट दे रखी हो। जो भी हो, फिलहाल यहां के जागरूक लोगों ने झोलाछाप डॉक्टरों की कथित दुकानदारी से क्षेत्र में कोरोना वैश्विक मारामारी के फैलने की पूरी आशंका जताई है। ऐसे लोगों का मानना यह भी है कि समय रहते यदि जिला प्रशासन ने झोलाछाप डॉक्टरों की कथित मनमानी के मामले को संज्ञान में लेते हुए इनके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया, तो क्षेत्र में कोरोना की विस्फोटक स्थिति बन सकती है।

जब इस मामले की जानकारी ढीमरखेड़ा एसडीएम को दी गई तो उन्होंने व्हाट्सएप मैसेज पर यह कह दिया कि मैंने नायक तहसीलदार को कार्यवाही हेतु आदेशित किया है परंतु उमरिया पान के झोलाछाप डॉक्टरों से नायब तहसीलदार खुद डरते हैं तभी तो उन पर किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं की जाती आज भी इन झोलाछाप डॉक्टरों के क्लीनिक आपको खुलेआम देखे जा सकते हैं परंतु तहसीलदार महोदय ग्रामीण क्षेत्र में जाकर वह छोटे मोटे झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई करके वाहवाही लूटते हैं नायब तहसीलदार साहब आखिर उमरिया पान के झोलाछाप डॉक्टरों पर क्यों नहीं करते कार्यवाही यह एक सवालिया निशान है और सोचनीय विषय है कि आखिर तहसीलदार साहब क्यों डर रहे हैं इन झोलाछाप डॉक्टरों से क्या कभी होगी उमरिया पान के झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई?

कलयुग की कलम

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close