UNCATEGORIZED

लोगों के अनमोल जीवन की रक्षा के लिए युवाओं को कोरोना वॉरियर्स की जिम्मेदारी निभानी होगी – ईशान त्यागी

कलयुग की कलम

लोगों के अनमोल जीवन की रक्षा के लिए युवाओं को कोरोना वॉरियर्स की जिम्मेदारी निभानी होगी – ईशान त्यागी

 

दीपक कुमार त्यागी (हस्तक्षेप )वरिष्ठ पत्रकार व राजनीतिक विश्लेषक

किसी प्रकार की आपदा ताकतवर से ताकतवर मनुष्य को एक ही पल में लाचार बना देती है, लाचारी के इस भवंर को पार करने के लिए अचानक से पल भर में ही मजबूर बन चुके व्यक्ति को भी एक सहारे की आवश्यकता पढ़ती है। ठीक उसी प्रकार भयावह कोरोना काल में भी जब सरकार व सिस्टम के संसाधन लोगों की मदद करने के लिए नाकाफी साबित हो रहे थे, तो उस समय बीटेक की पढ़ाई कर चुके टीवी डिवेट में स्वतंत्र राजनीतिक विश्लेषक की भूमिका निभाने वाले ईशान त्यागी ने अपने कुछ बेहद सच्चे हमदर्द साथियों के साथ मिलकर के जरूरतमंद लोगों की मदद करने की ठानी। उन्होंने इन लोगों की एक टीम बनाकर हिम्मत व हौसले के साथ कोरोना के मरीजों को हॉस्पिटल में एडमिशन दिलवाने से लेकर के बेड, ऑक्सीजन, आईसीयू, वेन्टीलेटर, इन्जेक्शन, दवाई व भोजन आदि की व्यवस्था करवाने का कार्य अपनी कोरोना वॉरियर्स की टीम के साथ तालमेल करके करना शुरू कर रखा है, भयावह आपदा में लोगों के जीवन को बचाने के लिए ईशान त्यागी व उनकी टीम का यह प्रयास बहुत सराहनीय है।

ईशान त्यागी बताते है कि अचानक से आयी कोरोना महामारी की जबरदस्त दूसरी लहर से भयभीत होकर अत्याधिक घबराहट व अपनों के दुनिया से चले जाने की चिंता में लोग हड़बड़ाहट में हिम्मत खो रहे है, जो इस भयंकर आपदाकाल में बिल्कुल भी उचित नहीं है, हमको इस तनावपूर्ण स्थिति से लड़कर हालात में जल्द सुधार करना है। उन्होंने बताया कि मोबाइल या सोशल मीडिया के माध्यम से उनसे या टीम के सम्मानित साथियों से जिसने भी मदद मांगी है, सबसे पहले उन लोगों ने उसका ढ़ाढस बंधाया, फिर उन्होंने इस बेहद विपरीत परिस्थिति से लड़ने के लिए उस व्यक्ति की हिम्मत व हौसले को बढ़ाने का कार्य किया, उसके बाद उन्होंने उस जरूरतमंद व्यक्ति के साथ व अपने अन्य सम्मानित सहयोगियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उसकी समस्या का निदान करने का प्रयास किया, जिसके परिणाम स्वरूप अक्सर ईश्वर की कृपा व आपसी सहयोग से समस्या का समय रहते निदान हो गया। ईशान कहते हैं कि व्यक्ति को जिंदगी में विपरीत स्थिति में कभी भी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए, अगर वह ऐसा कर लेता है तो वह हर हाल में मुसीबत के इस किले को फतह कर ही जायेगा। ईशान त्यागी कहते है देश में आपदा के समय जैसा आजकल बेहद आपधापी का तनावपूर्ण माहौल चल रहा है, उसमें जरूरी है कि हम सभी लोगों को एकजुट होकर एक दूसरे का सहयोग करते हुए, कोरोना गाइडलाइंस का पूर्ण रूप से पालन करते हुए अधिक से अधिक समय घर में व्यतीत करना चाहिए। ईशान कहते है कि आज के कठिन समय में बेहद जरूरी है कि देश के युवा आगें बढ़कर आये और देश व समाज के हित में पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी से अपनी जिम्मेदारी व दायित्वों का निर्वहन करते हुए कोरोना वॉरियर्स की जिम्मेदारी का निर्वहन करें।

वैसे आजकल कोरोना की दूसरी बेहद जबरदस्त लहर की वजह से जिस तरह के हालात भारत में चल रहे हैं, उसको देखते हुए देश व समाज के हित में जरूरत है कि ईशान त्यागी जैसे योग्य मेहनतकश, पढ़े-लिखे युवा अपनी नौकरी व्यापार के साथ-साथ समाजसेवा व राजनीति में आगें बढ़कर आये और देश व समाज को सर्वांगीण विकास के पथ पर ले जाकर सफलता की नयी राह दिखाएं।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close