मध्यप्रदेश

बौखलाये कमाण्डेन्ट ने गेट पर लगाया सख्त पहरा बोला मीडिया को अंदर मत आने देना

कलयुग की कलम

बौखलाये कमाण्डेन्ट ने गेट पर लगाया सख्त पहरा बोला मीडिया को अंदर मत आने देना

सैनिकोंं के फर्जी हस्ताक्षर कर भेज रहे शासन को जानकारी ?

सतना, (ओपी तीसरे)। होमगार्ड कमाण्डेन्ट आई के उपनारे अपनी लापरवाह कार्यशैली के चलते सतना से लेकर भोपाल तक काफी सुर्खियां बटोर रहे हैं। विगत दिनों दमोह से लौटे सैनिकों के मामले में कमाण्डेन्ट की कालगुजारियों की चर्चा पूरे प्रदेश में हैं। जानकारी के मुताबिक कमाण्डेन्ट ने गेट पर चार नगर सैनिकों की ड्यूटी लगा रखी है और सैनिकों को सख्त आदेश भी दिए हैं कि कोई भी व्यक्ति अंदर आकर फोटो वगैरह न खींचे। न ही किसी भी तरह की कोई जानकारी मीडिया को अवगत कराए। जिसने उनके आदेश का पालन नहीं किया तो उसे निलंबित कर दिया जाएगा। नाम न जाहिर करने की शर्त पर एक नगर सैनिक ने बताया कि अभी तीन सैनिक क्वारनटाइन के लिए लाइन में हाजिर नहीं हुए हैं। उनकी फर्जी साईन करके लिस्ट भोपाल और जिला कलेक्टर के पास भेजी जाती है। लेकिन यह बात सही है तो कमाण्डेन्ट द्वारा बड़ी चूक की जा रही है।

अटैचमेन्ट के नाम पर काट दिए दो साल

गौरतलब है कि 2 वर्ष पूर्व आईके उपनारे सतना में कुछ समय के लिए सतना में अटैच किए गए थे। जबकि इनकी यहां पर पदस्थापना नहीं हुई थी। लेकिन पिछले दो वर्षो से लगातार अटैचमेन्ट के रूप में पदस्थ सतना में जमे हुए है।

कार्यालयीन सूत्रों की मानें तो यहां के समाचार पत्रों में इस आशय की खबर प्रकाशित होने के बाद कई कर्मचारियों के कमाण्डेन्ट द्वारा आफिस की खबर लीक करने का ईल्जाम लगाकर उन्हें खरी-खोटी सुनाई जा रही है।

विवादित रहा कमाण्डेन्ट का कैरियर

जबलपुर होमगार्ड कार्यालय से जुड़े सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार होमगार्ड कमाण्डेन्ट आईके उपनारे द्वारा जबलपुर में भी कई फर्जीवाड़े किए गए थे, जिसके कारण दो साल पूर्व उन्हें यहां सतना में अटैच किया गया था। सूत्रों की मानें तो कमाण्डेन्ट उपनारे के कई केस भी न्यायालय मेंं चल रहे हैं। कुल मिलाकर इनकी नौकरी का सफर पूरी तरह से विवादास्पद रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close