मध्यप्रदेश

एक बेटी ने फिर निभाया पुत्र धर्म : पिताश्री को दी मुखाग्नि 

कलयुग की कलम

एक बेटी ने फिर निभाया पुत्र धर्म : पिताश्री को दी मुखाग्नि

सतना, (कलयुग की कलम)। सकरिया ग्राम पंचायत में आज फिर सानिया नाम की एक नाबालिग बेटी ने पुत्र धर्म निभाते हुए अपने पिताश्री को मुखाग्नि दी। यह गमगीन नज़ारा देख सड़क हादसे में दिवंगत हुए मधई लाल चौधरी के अंतिम संस्कार में शामिल हुए क्षेत्रीय ग्रामीणों की आंखें डबडबा गई। विदित हो कि इससे पहले 18 अप्रैल 2020 को इसी पंचायत की रागनी शर्मा ने भी अपने स्वर्गीय पिताश्री जीवेंद्र कृष्ण शर्मा को मुखाग्नि दी थी।

ग्राम पंचायत की रोशनी रहे मधई लाल चौधरीे की इस हृदय विदारक घटना ने क्षेत्रीय ग्रामीणों को पूरी तरह से झकझोर कर दिया। ग्रामीणों के मुताबिक कल हुए हृदय विदारक सड़क हादसे में मधई लाल चौधरी व उनके अभिन्न साथी एमपीईबी के लाइनमैन जगदीश पटेल की दर्दनाक मौत हो गई थी। मधई लाल सकरिया ग्राम पंचायत में और जगदीश पटेल सतना के सिद्धार्थ नगर मोहल्ले में अपने परिवार के साथ रहते थे। ग्रामीण यह भी बताते थे कि गांव में यदि रात दो बजे भी बिजली गुल हो जाती थी, तो जगदीश व मधई लाल दोनों रात में पहुंचकर लोगों को इस समस्या से निजात दिलाने का कार्य करते थे। मधई लाल की सिर्फ दो ही बेटियां थीं, जिनमे एक बिटिया की शादी हो गई और दूसरी या यूं कहें छोटी बिटिया सानिया अभी 9वीं कक्षा की शिक्षा ग्रहण कर रही है।

श्रद्धांजलि.

इस हृदय विदारक घटना में दिवंगत हुए सकरिया गांव की शान या यूं कहें रोशनी रहे मधई लाल चौधरी व जगदीश पटेल के आत्मा की शांति और शोकाकुल परिवार को सहनशक्ति प्रदान करने की क्षेत्रीय ग्रामीणों ने ईश्वर से कामना करते हुए अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इस श्रद्धांजलि सभा में ग्राम पंचायत की पूर्व सरपंच केशकली मिश्रा, ग्राम पंचायत बारीकला के पूर्व सरपंच राकेश प्रताप सिंह ‘पप्पू’, कलयुग की कलम न्यूज़ चैनल के संभागीय ब्यूरो चीफ ओपी तीसरे, ग्राम पंचायत सकरिया के सरपंच उमेश चौधरी, युवा समाजसेवी अफसर सकरिया, राजमणि सिंह, बीरेंद्र पांडेय, ममित शर्मा, जयराम सिंह व भाईलाल कोल सहित बड़ी संख्या में क्षेत्रीय ग्रामीण उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close