मध्यप्रदेश

सत्य समाने पर बेअसर जन्मभूमि पर करते रहे दलाली

कलयुग की कलम

सत्य समाने पर बेअसर जन्मभूमि पर करते रहे दलाली

आदर्श ग्रामवाशी की अधेरी जिन्दगी राजनीति की चढी भेट

कलयुग की कलम

 रामनगर / बाणसागर बहुउद्देश्यीय परियोजना द्वारा 336 गावो का विस्थापन हुआ ।

विस्थापन प्रभावित गाव को 20 आदर्श ग्राम माडल विलेज के रूप मे बसाया गया ।

विस्थापित परिवार के समस्त सम्पत्ति का मावजा भुगतान कर सभी को एक समान 40*90 का प्लाट बसाहट बसने के लिए आबंटित किया गया

इसके साथ ही सबसे अहम बिषय था विस्थापित परिवार के लिए जीविकोपार्जन जिसमे 13-03-1997 को मध्यप्रदेश सामान्य प्रशासन विभाग मंत्रालय आदेश जारी किया गया

जिसमे बिषय है — बाणसागर परियोजना एक बृहद सिचाई परियोजना से प्रभावित परिवारो को शासकीय सेवा मे नियुक्त के लिए प्राथमिकता थी किन्तु इस सम्बन्ध पर किसी नेता जनप्रतिनिधि समाज सेवी संगठन ने आवाज नही उठाई। सिर्फ और सिर्फ खाली जमीन एसS भूखण्ड आरR भूखण्ड पर कब्जे की नीयते मे काम किये और सफल हुए नेताओं ने कई भूखण्ड बनाए जितने उनके परिवार पट्टीदार मे सदस्यो की संख्या नही थी उसे ज्यादा प्लाट अर्जित किये ऐसी सौगात दी अपनी जन्म भूमि को ।

अधेरी दस्ता विस्थापित परिवार राजनीति की भेट

जीविकोपार्जन के लिए विस्थापित परिवारो को आज भी ना तो रोजागार के साधन और ना ही नौकरी किसी को मिली कई नेताओं ने क्षेत्र की तस्वीर बदलने आए और क्षेत्र वाशियो को लालच दिया वोट लिया कोरी घोषणाएं की अपनी रोटी सेकी और चले गये 22/बाइस बर्ष बीत चुके और किसी विस्थापित परिवार के एक भी सदस्य को आज तक बी-1 टाइप की नौकरी नही मिली मतदाताओ और उनके परिवार की दस्ता आज भी वही है तस्वीरे बद्ली तो सिर्फ नोचने वाले क्षेत्रवासी की बदली

सरकारे आई और चली गई किसी सरकार ने आदर्श ग्राम वाशियो के प्रति शासन के नीति निर्देश 13 मार्च 1997 के आदेश का पालन नही किया या कराने की पहल की

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close