मध्यप्रदेश

भदवा पंचायत के ग्रामीणों ने कलेक्टर से की रोजगार सहायक के भ्रष्ट कारनामों की शिकायत

कलयुग की कलम

भदवा पंचायत के ग्रामीणों ने कलेक्टर से की रोजगार सहायक के भ्रष्ट कारनामों की शिकायत

कहा – करवाएं निष्पक्ष जांच और करें सेवा से पृथक

पिता को बनाया मजदूर और भाई को किया पीएम आवास से लाभान्वित

पात्रों का हक डकारने ग्रामीणों ने लगाया खुला आरोप

सतना, (कलयुग की कलम)। जिले के अमरपाटन ब्लॉक की ग्राम पंचायत भदवा (जगहथा) के रोजगार सहायक एवं प्रभारी सचिव वीरेंद्र मिश्रा के भ्रष्ट कारनामों की एक लिखित शिकायत क्षेत्रीय ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर अजय कटेसरिया से करते हुए उनके कथित कारनामों की निष्पक्ष जांच करवाए जाने की मांग की है।

कलेक्टर को प्रेषित अपने इस शिकायती आवेदन में क्षेत्रीय ग्रामीणों ने सामूहिक तौर से आरोप लगाया है कि भदवा ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक एवं प्रभारी सचिव वीरेंद्र शासन की संचालित योजनाओं में जमकर पलीता लगा रहे हैं। ग्रामीणों ने पंचायत में होने वाले निर्माण कार्यों में उनके द्वारा व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार किए जाने के संगीन आरोप लगाते हुए मामले की निष्पक्ष जांच कर उन्हें सेवा से पृथक किए जाने की बात भी कही है। ग्रामीणों ने यह भी अवगत कराया कि बृद्धावस्था पेंशन में नाम जोड़ने क्षेत्र के पात्र हितग्राहियों से रोजगार सहायक एवं प्रभारी सचिव 5000/-रुपए की घूस मांगता है। इसी तरह पीएम आवास योजना की पहली किश्त के लिए 10, 000 और दूसरी किश्त के लिए 5,000 रूपये की डिमांड हितग्राहियों से की जाती है।

इतना ही नहीं, पंचायत में मनरेगा के तहत होने वाले निर्माण कार्यों में मजदूरों की बजाय जेसीबी मशीन से कार्य करवाया जाता है। अपात्र मजदूरों का मस्टररोल में नाम जोड़कर संबंधितों से उनके अकॉउंट में पैसा आने पर राशि का बंदरबाट कर लिया जाता है। ग्रामीणों की मानें तो रोजगार सहायक वीरेंद्र मिश्रा ने अपने सगे भाई देवेंद्र व पिंकू मिश्रा को पीएम आवास योजना से लाभान्वित किया है, जबकि वे इसके बिल्कुल भी पात्र नहीं हैं। इसी तरह मनरेगा के तहत होने वाले कार्य में अपने पिता विश्वामित्र व भाई देवेंद्र मिश्रा का नाम बतौर मजदूर उल्लेखित करते हुए पात्र मज़दूरों का हक भी डकार रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close