मध्यप्रदेश

पान उमरिया के आरक्षक अजय सिंह सहित 5 पुलिस कर्मियों ने की साढ़े 5 लाख की दिनदहाड़े लूट

कलयुग की कलम

पान उमरिया के आरक्षक अजय सिंह सहित 5 पुलिस कर्मियों ने की साढ़े 5 लाख की दिनदहाड़े लूट

कहा – किसी से भी की चर्चा तो गांजे का केस ठोंक तबाह कर दूंगा जिंदगी

फरियादी ने एसपी को सौंपा ज्ञापन और की पुलिस कर्मियों पर लूट का प्रकरण दर्ज करने की मांग

KKK न्यूज

कटनी, (कलयुग की कलम)। पान उमरिया थाना के आरक्षक अजय सिंह सहित पांच पुलिस कर्मियों पर साढ़े 5 लाख रुपए की लूट किए जाने का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। कुठला थाना क्षेत्र के मनटोला निवासी अब्दुल शरीफ पिता लल्लू खान ने इस आशय का एक शिकायती आवेदन कटनी पुलिस अधीक्षक को सौंपते हुए कथित पुलिस कर्मियों पर लूट का प्रकरण दर्ज करते हुए उनके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही किए जाने की फरियाद की है।

पुलिस अधीक्षक को प्रेषित अपने लिखित शिकायती आवेदन में 38 वर्षीय फरियादी अब्दुल शरीफ ने पान उमरिया थाना के 4 पुलिस कर्मियों पर साढ़े 5 लाख रुपए की नगदी लूटने का संगीन आरोप लगाया है। फरियादी ने बताया कि जब वह अपने मित्रों के साथ कार क्रमांक एमपी 21 सीए 4437 की गाड़ी का पिछला चका पंचर हो जाने के कारण करौंदी के केंद्र बिंदु में दूसरा चका बदल रहा था, तभी पान उमरिया थाना के 4 पुलिसकर्मी उनके पास अचानक पहुचे। इनमें से अजय सिंह नाम के एक पुलिसकर्मी (जिसके हाथ मे ‘ॐ’ का गुदना था) ने कार में रखे साढ़े 5 लाख रुपए से भरे उनके काले बैग को उठाते हए जंगल की तरफ जाकर उसे छिपा दिया। इसके कुछ ही देर बाद 4 अन्य सिविल ड्रेस पुलिस कर्मियों (पिंटू पटेल कंप्यूटर ऑपरेटर) जगन्नाथ, अजय व आरक्षक पांडेय) के साथ आरक्षक अजय सिंह उनके पास अपना रूतबा दिखाते हुए आए और ताश के 52 पत्तों के साथ 1800 रुपए की जप्ती दिखाते हुए उन पर फर्जी जुंआ का प्रकरण बनाने का दबाब देने लगे। तथाकथित पुलिस कर्मियों की इस सुनियोजित चाल से वह सब घबरा गए। फिर क्या ? अपनी दाल गलती देख पुलिस कर्मियों ने उनसे कहा यदि इस अपने इन रुपयों के लूट की चर्चा कहीं भी करोगे, तो साले गांजे की जप्ती दिखाकर तुम सबकी जिंदगी तबाह कर देंगे। उनकी इस धमकी से हम घबरा गए और किसी तरह उनकी चंगुल से छूटकर अपने घर वापस आ गए। फरियादी ने बताया कि कथित पुलिस कर्मियों द्वारा उनके साथ इस वारदात को 1 अप्रैल 2021 की शाम लगभग 4:30 से 5:00 बजे के बीच अंजाम दिया गया। फरियादी के मुताबिक इस दौरान उनके साथ कार चालक सोनू जाटव व मित्र विक्की शिवहरे, नर्मदा प्रसाद पांडेय, शिवकुमार हल्दकार, कृष्णकुमार चौधरी व सत्यम सोनी वगैरह भी रहे। उनके साथ इन्हें भी पुलिस कर्मियों की कथित ज्यादती का शिकार होना पड़ा।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close