मध्यप्रदेश

शॉर्ट सर्किट से लगी भीषन आग ।रामपुर बरेली के परासी हार में पिछले 3 वर्षों से लगातार आगजनी की घटनाएं हो रही है। ग्रामीणों द्वारा लगातार फायर ब्रिगेड की मांग जिम्मेदारों द्वारा दिया जा रहा नियमों का हवाला ।।

कलयुग की कलम

शॉर्ट सर्किट से लगी भीषन आग ।रामपुर बरेली के परासी हार में पिछले 3 वर्षों से लगातार आगजनी की घटनाएं हो रही है। ग्रामीणों द्वारा लगातार फायर ब्रिगेड की मांग जिम्मेदारों द्वारा दिया जा रहा नियमों का हवाला

कलयुग की कलम

 ढीमरखेड़ा एवं ढीमरखेड़ा के आसपास के बड़े क्षेत्रफल में गर्मी सुरु होते ही आगजनी की घटना रोजाना की बात हो गई है कल दोपहर लगभग 1:30 बजे ढीमरखेड़ा के परासी हार में शॉर्ट सर्किट से खेतों में आग लग गई बिजली विभाग की लापरवाही जिसमें बारीक फासले की क्रॉसलाइन से चिंगारी निकली एवं स्पार्किंग से खेत में आग लग गई किसानों के खेतों में खड़ी फसल धू-धू करके जलने लगी ग्रामीणों की तत्परता से बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया गया जिसमें गांव के रामनरेश त्रिपाठी सुरेश त्रिपाठी एवं टिंकू गौतम की फसल जलकर नष्ट हो गई।। छेत्र मे फायर ब्रिगेड की तुरंत आवश्यकता है जिसकी प्रशासन को मुकम्मल जानकारी है लेकिन क्यों इस पर कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है ?यह प्रश्न छेत्र का हर किसान पूछ रहा है । प्रतिवर्ष लाखों की हानी का खामियाजा गरीब ग्रामीणों एवम् किसानों को भुगतना पड़ता है ना जाने कितने घर और हजारों एकड़ की फसल खड़े-खड़े आग में खाक हो चुकी है कभी पान उमरिया कभी ढीमरखेड़ा कभी-सीलोदी कभी दसर मन सहित पूरे किसानी क्षेत्र में आगजनी घटना रोजाना होती है लेकिन जिम्मेदार ना तो इस ओर ध्यान देते हैं और ना ही इस में कुछ करना चाहते हैं आखिर प्रश्न यह उठता है की ग्रामीण अपनी परेशानी बताने किसके पास जाएं। जब भी किसानों द्वारा फायर ब्रिगेड की मांग की जाती है तब अधिकारियों द्वारा यह कह दिया जाता है कि हम इस पर सोच विचार कर रहे हैं एवं किसानों के हाथ में आश्वासन के अलावा कुछ नहीं आता।।

बदलती हुई परिस्थितियों में अब पूरे क्षेत्र में किसान कच्ची फसल कटाने मजबूर हैं जिसमें उन्हें पैदावार में भी भारी भरकम नुकसान उठाना पड़ रहा है आखिर कब इस समस्या का समाधान होगा यह जिम्मेदार अधिकारी ही जानते हैं

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close