मध्यप्रदेश

तीन साल में स्थानान्तरण का प्रावधान

कलयुग की कलम

तीन साल में स्थानान्तरण का प्रावधान

17 सालों से एक ही कार्यालय में पदस्थ

सहायक ग्रेड – 2 और 3 के जिले में ऐसे हैं 71 कर्मचारी जिनकी डेढ़ दशक से नहीं हिली कुर्सी

कलयुग की कलम

सतना, (ओपी तीसरे)। सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा तय की गई स्थानान्तरण नीति में एक ही स्थान व कार्यालय में तीन वर्षों से अधिक समय से पदस्थ लोक सेवकों के स्थानान्तरण का प्रावधान है। लेकिन रसूख और पहुंच के आगे सारे प्रावधान धरे के धरे हैं। हालत यह है कि एक-दो साल नहीं बल्कि 17-17 सालों से कर्मचारी एक ही कार्यालय में पदस्थ हैं। इस दौरान कार्यालय से हटना तो दूर इनकी शाखा तक नहीं बदली गई है। अगर कार्यालयवार पदस्थ कर्मचारियों की बात करें तो जिला कार्यालय में सहायक ग्रेड दो के आठ कर्मचारी ऐसे हैं जो तीन वर्षों से लेकर 12 वर्षों से यहां पदस्थ हैं। इसी तरह सहायक गेड तीन के 14 कर्मचारी ऐसे हैं जो पिछले चार वर्षो से लेकर ग्यारह वर्षो से यहीं पदस्थ हैं। कोई भी इनका बाल बांका नहीं कर सका। इसके बाद यदि अनुविभागीय कार्यालय की बात करें तो रघुराजनगर अनुभाग में दो ही कर्मचारी ऐसे हैं जो तीन वर्ष से पिछले दस वर्षो से यहां पदस्थ हैं। इनमें से एक सहायक ग्रेड – 2 है तो दूसरा सहायक ग्रेड तीन। नागौद में एक सहायक ग्रेड – 2 सत्रह वर्षों से पदस्थ है, तो मैहर में सहायक ग्रेड – तीन पिछले तेरह वर्षों से। पर इन्हें यहां से कोई टस से मस नहीं कर सका।

तहसीलों में 15 सालों से पदस्थ

जिला व अनुभाग कार्यालय में ही वर्षों से एक ही कार्यालय में कर्मचारी पदस्थ हैं। ऐसा नहीं है, तहसील कार्यालयों में भी 15-15 सालों से कर्मचारी एक ही कार्यालय और एक ही शाखा में पदस्थ हैं। रघुरानगर तहसील में 8, नागौद में 6, उचेहरा में 3, मैहर में 5, मझगवां में 2, बिरसिंहपुर में 5, रामपुर बाघेलान में 4, कोटर में 1, अमरपाटन में 7 एवं रामनगर तहसील में 4 कर्मचारी ऐसे हैं जो पिछले 10 से 12 सालों से एक ही स्थान पर पदस्थ हैं।

हर किसी को राजनैतिक संरक्षण

ऐसा नहीं है कि जो कर्मचारी पिछले डेढ़ दशकों से ज्यादा समय से एक ही कार्यालय में पदस्थ हैं उनमें कोई विशेष योग्यता है या फिर उनके अलावा कोई इस कार्यालय में काम ही नहीं कर सकता। इनमें से कोई भी बात नहीं। नियम-कायदों को दरकिनार कर एक ही कार्यालय में पिछले 15 से 17 वर्षो से इनके पदस्थ रहने की एक ही वजह है राजनैतिक संरक्षण। इन सभी कर्मचारियों को राजनैतिक संरक्षण मिला हुआ है। यदि धोखे से इनका स्थानान्तरण हो भी जाता है तो अपने आका की ड्यूटी पर ये माथा रगड़ आते हैं और इनका स्थानान्तरण रूक जाता है। पर पिछले कई वर्षो से एक ही कार्यालय में पदस्थ इन लोगों की निरंकुशता की वजह से कितनी परेशानियां आम जनमानस को होती है, इस पर किसी का ध्यान नहीं जाता।

कौन कितने वर्ष से कहां पदस्थ

जिला कार्यालय में (सहायक ग्रेड-2) दीनदयाल कोल 12 वर्ष, रमाकांत तिवारी 12 वर्ष, पूरन प्रसाद त्रिपाठी 10 वर्ष, बालकृष्ण गुप्ता 6 वर्ष, अनिल खरे, प्रेमलता कुशवाहा एवं संजय सिंह 3-3 वर्षो से। जिला कार्यालय में (सहायक ग्रेड-3) धीरेन्द्र सिंह बघेल 11 वर्ष, रविशंकर सेन 10 वर्ष, मनोज कुमार वर्मा 10 वर्ष, रवि प्रताप श्रीवास्तव 10 वर्ष, कामता शरण चतुर्वेदी 8 वर्ष, अशोक आदिवासी 7 वर्ष, जगत निवास चैरसिया 6 वर्ष, अशोक सिंह 6 वर्ष, विवेक कुमार 05 वर्ष एवं प्यारेलाल प्रजापति, अतुल सिंह बघेल, निर्मला वर्मा, संतोष कुमार श्रीवास्तव तथा स्वाति जगधारी 4-4 वर्षो से पदस्थ हैं। इसके अलावा रघुराजनगर अनुभाग में सहायक ग्रेड-2 प्रेमलाल कुशवाहा 3 वर्षो से, सहायक ग्रेड-3 राजभान सिंह 17 वर्षो से एवं मैहर में सहायक ग्रेड-3 मधुसूदन अहिरवार 13 वर्षो से पदस्थ हैं। रघुराजनगर तहसील में 5-15 सालों से कर्मचारी पदस्थ हैं, सहायक ग्रेड-2 गिरीश कुमार द्विवेदी 15 वर्षो से पदस्थ हैं, तो बाल्मीक शुक्ला 3 साल, राकेश कुमार और मिथलेश निगम 10-10 वर्षो से, मोलू सिंह और राजकुमार वर्मन 5-5 वर्षों से, तो जीपी श्रीवास्तव 4 एवं मोहनलाल श्रीवास्तव 3 वर्षों से पदस्थ हैं। नागौद तहसील में सबसे ज्यादा 14 वर्षों से सहायक ग्रेड-3 रमेश कुमार वर्मा पदस्थ हैं। इसके अलावा राजेन्द्र कुमार आर्य और सत्य नारायण पाण्डेय 9-9 वर्षों से, तो लवकेश सिंह 7, रमेश कुमार चर्मकार 5 एवं दिनेश कुमार अहिरवार 3 वर्षों से पदस्थ हैं। इसी तरह उचेहरा तहसील में सहायक ग्रेड-2 सतीश चक्रवर्ती पिछले 13 सालों से पदस्थ हैं, रफअत सीरी 10 वर्षो से एवं प्रभात उइके 6 वर्ष से। मैहर तहसील में गंगा प्रसाद सोंधिया 9 वर्ष से, रमेश कुमार कोल व देवेन्द्र शुक्ला 5-5 वर्ष से, लल्लू प्रजापति 4 एवं दीनानाथ खटिक 3 वर्ष से पदस्थ हैं। मझगवां तहसील में सहायक ग्रेड-3 दीनानाथ त्रिपाठी 6 वर्ष व मनोज अहिरवार 3 वर्ष से पदस्थ हैं, जबकि बिरसिंहपुर तहसील में दिनेश प्रजापति, शैलेन्द्र वर्मा, दयाराम वर्मा 3-3 वर्षों से और संदीप त्रिपाठी व विकास पाण्डेय 4-4 वर्षों से पदस्थ हैं। रामपुर बाघेलान तहसील मेंं सहायक ग्रेड-3 राजेश श्रीवास्तव 10 वर्षो से, सामेचंद साकेत 9 वर्ष, लालमणि तिवारी 8 वर्ष एवं सरिता वर्मा 7 वर्षों से पदस्थ हैं। इसी तरह कोटर तहसील में रामनिहोर मिश्रा पिछले 7 सालों से पदस्थ हैं। अमरपाटन तहसील में सहायक ग्रेड-3 अनीता पाण्डेय सबसे ज्यादा 9 सालों से पदस्थ हैं। इसके बाद अल्का मरकाम 7 साल, सुरेन्द्र प्रसाद 6, अनिल कुमार त्रिपाठी 5 साल, अतुल कुमार दीक्षित 4 साल, प्रशांत राव दीपांकर 4 वर्ष एवं सुरेश कुमार मिश्रा 3 वर्षों से पदस्थ हैं। इसी तरह रामनगर तहसील में धूपलाल दहायक व रमेश कुमार कहार 11-11 वर्षों से, तो समयलाल कोल 5 वर्ष व सुखेन्द्र सिंह चौैहान 6 वर्षों से पदस्थ हैं। यह जानकारी विधायक विजय राघवेन्द्र सिंह के प्रश्न पर अपर कलेक्टर द्वारा दी गई जानकारी में सामने आई है।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close