प्रयागराज

परम शक्ति धाम :- आध्यात्मिक व भौतिक विकास का पैगाम ,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

शब्द अद्वितीय लोकतांत्रिक व्यवस्था

आध्यात्मिक व भौतिक विकास।

एक समान उत्तम शिक्षा व निर्धन बेसहारों की सहायता।

विक्रमजोत, बस्ती। पीडब्ल्यूएस परिवार द्वारा श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में प्रस्तावित व स्थापित होने जा रहा परम शक्ति धाम स्वतन्त्र हिंदुस्तान का अद्वितीय लोकतांत्रिक व्यवस्था, आध्यात्मिक व भौतिक विकास, एक समान उत्तम शिक्षा व निर्धन बेसहारा परिवारों की समुचित सहायता व उनके बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराने के दृष्टिकोण से आस्था के आदर्श केंद्रीय व्यवस्था का राष्ट्रीय मिशन बनने जा रहा है।

जानकारी के अनुसार मीडिया से वार्ता में पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय ने उपरोक्त बातें सामने रखते हुए कहा कि राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी साथियों के मात्र 01ईंट 01रु0 व आस्थानुसार यथोचित योगदान से स्थापित होने जा रहे इस परम शक्ति धाम में देवालय से सामाजिक व शिक्षालय से राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रान्ति का महाअभियान सम्पन्न होगा। आर के पाण्डेय एडवोकेट के अनुसार परम शक्ति धाम देवालय को आम जनमानस के आध्यात्मिक व विकास के केंद्र के साथ निर्धन बेसहारों की समुचित सहायता के स्थल रूप में विकसित करने साथ परमेंदु शिक्षा सदन से आम जनमानस के बच्चों को एक समान उत्तम शिक्षा के साथ निर्धन बेसहारा परिवार के बच्चों को पूर्णतया निःशुल्क शिक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। परम शक्ति धाम स्वतंत्र हिंदुस्तान का अभी तक का एकमात्र ऐसी पूर्णतया लोकतांत्रिक व्यवस्था बनने जा रहा है जिसमें आगामी पावन पर्व श्रीराम नवमी 21 अप्रैल 2021 तक योगदान करने वाला प्रत्येक सहयोगी सर्वकालिक पंजीकृत सम्मानित आजीवन सदस्य के साथ व्यवस्था में सहभागी भी होगा।

बता दें कि पीडब्ल्यूएस परिवार द्वारा आगामी श्रीराम नवमी 21 अप्रैल 2021 को उपरोक्त परम शक्ति धाम के स्थापना हेतु भूमिपूजन-शिलान्यास किया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close