प्रयागराज

यीशु दरबार चर्च में मनाया गया पुनरूत्थान दिवस,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

प्रयागराज मानव जाति के लिये मृत्यु पर विजय का दिवस है ‘ईस्टर’: बिशप आर.बी. लाल

नैनी, प्रयागराज। यीशु दरबार चर्च में पुनत्थान दिवस के रूप में ईस्टर मनाया गया। इस अवसर पर प्रातःकाल ईस्टर डान सर्विस का आयोजन किया गया जिसमें यीशु मसीह के क्रूस पर चढ़ने एवं तीसरे दिन कब्र में से जी उठने की घटना को जीवंत किया गया। तत्पश्चात यीशु दरबार चर्च में ईस्टर महासभा एवं मसीही भजन आदि का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सीमित संख्या में शुआट्स अधिकारीगण एवं श्रद्धालुगण सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करके उपस्थित रहे और कार्यक्रम का आयोजन सोशल मीडिया यू-ट्यूब पर लाईव प्रसारण किया गया।

शुआट्स कुलपति एवं यीशु दरबार चर्च के बिशप मोस्ट रेव्ह. राजेन्द्र बी. लाल ने सभी को पुनरूत्थान दिवस की बधाई देते हुए कहा कि ईस्टर, पूरी मानव जाति के लिए मृत्यु पर विजय का दिवस है। मृत्यु पर विजय पाने का चिन्ह दुनिया में कोई दूसरा नहीं है, सभी सुसमाचार का सारांश पुनरूत्थान ही है। प्रभु यीशु मसीह, सारी मानवता को अपने ऊपर लेकर कब्र में से जी उठे। जो कोई उस पर विश्वास करेगा उसका उद्धार सुनिश्चित है। उन्होंने बाईबल वचन साझा करते हुए कहा कि पुनरूत्थान और जीवन प्रभु यीशु मसीह में है जो कोई उस पर विश्वास करेगा वो अनन्त जीवन प्राप्त करेगा। पुनरूथान का सामथ्र्य प्रभु यीशु मसीह में ही है। बिशप लाल ने कहा कि पुनरूत्थान दिवस एक खुशखबरी है कि हमें प्रभु यीशु मसीह में विश्वास करके, अनन्त जीवन प्राप्त करने का अवसर प्राप्त हो रहा है, जो पुनरूत्थान को ग्रहण करता है वो यीशु मसीह को ग्रहण करता है। परमेश्वर चाहता है कि दुष्ट लोग अपना मन फिरायें, बुराई की चाल छोड़ दें और सत्य को मार्ग पर चलें। इस प्रकार हमें ‘मन फिराओ’ का सुसमाचर भी प्राप्त हुआ है। बिशप डा. आर.बी. लाल ने कहा कि मार्ग, सत्य और जीवन प्रभु यीशु मसीह हैं बिना उनके कोई भी मनुष्य स्वर्ग राज्य में प्रवेश नहीं कर सकता।

पूर्व में कुलसचिव प्रो. राॅबिन एल. प्रसाद, प्रति कुलपति (पीएमडी) प्रो. रेव्ह. सर्वजीत हरबर्ट, डा. वी.एम. प्रसाद व अन्य द्वारा मसीही गीत ‘जय के गीत गाओ’ की प्रस्तुति दी गई। बिशप मोरीस एडगर दान ने भी प्रार्थना की। गास्पल स्कूल के बच्चों ने मसीही गीत पर नृत्य की प्रस्तुति दी। अन्त में धन्यवाद, धन्यवाद, धन्यवाद गीत गाया गया। इस अवसर पर यीशु दरबार की उपाध्यक्षा डा. सुधा लाल, निदेशक प्रशासन विनोद बी. लाल, प्रति कुलपति (प्रशासन) प्रो. एस.बी. लाल, निदेशक आईपीसी प्रो. जोनाथन ए. लाल, रेव्ह. डेविड फिलिप्स, प्रो. रानू प्रसाद, प्रो. पी.जे. जाॅर्ज आदि उपस्थित रहे।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close