मध्यप्रदेश

आर ई एस में भ्रष्टाचार : लोकायुक्त से जांच की मांग अपनी गर्दन फसती देख शिकायतकर्ता पर अनर्गल आरोप लगा बना रहे दबाब

कलयुग की कलम कटनी

आर ई एस में भ्रष्टाचार : लोकायुक्त से जांच की मांग

अपनी गर्दन फसती देख शिकायतकर्ता पर अनर्गल आरोप लगा बना रहे दबाब

कटनी, (कलयुग की कलम)। नागरिक अधिकार, समाजसेवा एवं भ्रष्टाचार उन्मूलन संगठन मध्यप्रदेश के उप प्रांताध्यक्ष एवं कलयुग की कलम समाचार पत्र के कटनी ब्यूरो चीफ गोकुल दीक्षित को ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (आरईएस) संभाग कटनी के कार्यपालन यंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर और उनके मातहत लिपिक भरत चौकसे के तथाकथित भ्रष्टाचार के कारनामों की शिकायत लोकायुक्त से करना महंगा पड़ गया। जांच कार्यवाही में अपनी गर्दन फसते देख ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग कटनी के कार्यपालन यंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर एवं लिपिक भरत चौकसे अब शिकायतकर्ता गोकुल दीक्षित पर अनर्गल आरोप लगाकर अपने बचाव में लगे हुए हैं। इसके लिए ‘साम-दाम-दंड’ भेद की नीति अपनाई जा रही है कि शिकायतकर्ता उनके ‘चक्र-ब्यू’ में आ जाए और अपनी शिकायत वापस ले ले।

दरअसल नागरिक अधिकार, समाजसेवा एवं भ्रष्टाचार उन्मूलन संगठन मध्यप्रदेश के उप प्रांताध्यक्ष गोकुल दीक्षित ने 23 मार्च 2021 को अपने लेटरहेड में सूचना अधिकार के तहत ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (आरईएस) संभाग कटनी के कार्यपालन यंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर एवं लिपिक भरत चौकसे के तथाकथित भ्रष्टाचार की शिकायत लोकायुक्त से करते हुए जांच की मांग की थी।

लोकायुक्त को प्रेषित की गई इस शिकायत में ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (आरईएस) संभाग कटनी के कार्यपालन यंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर एवं लिपिक भरत चौकसे द्वारा जिले में होने वाले निर्माण कार्यों में व्यापक पैमाने पर भ्रष्टाचार एवं कटनी के चर्चित ठेकेदार पंकज राय को लाभान्वित किए जाने का संगीन आरोप लगाते हुए मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की गई थी।

ये रही शिकायत :-

1- कचनारी से कारो पानी मार्ग निर्माण 10 किलोमीटर स्पॉन कल्वर्ट ढीमरखेड़ा।

2- गौरा से गौरी मार्ग निर्माण ढीमरखेड़ा।

3- देवरी से पिपरिया मार्ग निर्माण ढीमरखेड़ा।

4- रपटा निर्माण दशरमन ढीमरखेड़ा।

5-स्टापडेम हल्का से बोदा मार्ग निर्माण ढीमरखेड़ा।

6- संभागीय कार्यालय में लिपिक भरत चौकसे के भाई के नाम से विगत कई वर्षों से बतौर अनुबंध लगी स्कॉर्पियो गाड़ी मामले की जांच।

7- लिपिक भरत चौकसे के बांधवगढ़ में संचालित लगभग 2 करोड़ कीमती रिसोर्ट मामले की जांच।

8- जिला पंचायत कार्यालय कटनी में हुए स्थानांतरण आदेश के बावजूद भी लिपिक भरत चौकसे का ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग कटनी में कब्जा।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close