प्रयागराज

मां काली व समय देवी का परम शक्ति धाम व शिक्षा का केंद्र रहा है गोरसरा शुक्ल,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

-मां काली व समया देवी का सिद्ध देवी मन्दिर।

गुरु सराय से बना गोरसरा।

विक्रमजोत, बस्ती। पीडब्ल्यूएस परिवार के अद्वितीय संकल्प देवालय से सामाजिक व शिक्षालय से राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रांति के महाअभियान के अंतर्गत स्थापित होने जा रहे आस्था के आदर्श केंद्रीय व्यवस्था के रूप में देवालय-शिक्षालय के भूमिपूजन-शिलान्यास का स्थान गोरसरा शुक्ल प्राचीन काल से मां काली व समय देवी परम शक्ति धाम व शिक्षा का केंद्र रहा है।

जानकारी के अनुसार आज मीडिया से वार्ता में पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में प्राचीन सिद्ध मां काली व समया देवी का मन्दिर है जिसके बारे में मान्यता है कि यहां पर भक्तों द्वारा देवी मां के सामने श्रद्धा से मांगी गई प्रत्येक मनोकामना पूर्ण होती है। यहां समय-समय पर सार्वजनिक रूप से पूजन व भंडारा भी होता है। वहीं बुजुर्गों के अनुसार प्राचीन काल में सरयू तथा मनोरमा नदी के मध्य स्थित गुरु सराय नामक शिक्षा का केंद्र ही आज गोरसरा शुक्ल के नाम से स्थित गांव है। ऐसे परम पावन स्थल गोरसरा शुक्ल (बस्ती) को देवालय से सामाजिक व शिक्षालय से राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रांति के महाअभियान के अंतर्गत परम शक्ति धाम के रूप में एक आस्था के आदर्श केंद्रीय व्यवस्था के तहत देवालय-शिक्षालय की स्थापना हेतु पीडब्ल्यूएस परिवार ने चयन किया है।

बता दें कि पीडब्ल्यूएस परिवार द्वारा आगामी पावन पर्व श्रीराम नवमी 21 अप्रैल 2021 को श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में परम शक्ति धाम देवालय-शिक्षालय की स्थापना हेतु भूमिपूजन-शिलान्यास का कार्यक्रम सुनिश्चित किया गया है। यह जानकारी पीडब्ल्यूएस परिवार के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी भैरु सिंह राठौड़ ने दी है।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close