UNCATEGORIZED

पीडब्ल्यूएस का अद्वितीय अभियान सहभागिता संग स्वतः योगदान ,रिपोर्टर सुभाष चंद्र पटेल प्रयागराज

कलयुग की कलम

01ईंट 01रु. से देवालय-शिक्षालय निर्माण।

एक समान उत्तम शिक्षा।

-निर्धन बेसहारा परिवारों का कल्याण।

प्रयागराज विगत 74 वर्षों के आजाद हिंदुस्तान में पीडब्ल्यूएस परिवार द्वारा अपने अद्वितीय संकल्प देवालय से सामाजिक व शिक्षालय से राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रान्ति के महाअभियान में राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों को जोड़ने की अनोखी मुहिम शुरू करते हुए योगदान के साथ सबकी सहभागिता भी सुनिश्चित की गई है।

जानकारी के अनुसार आज मीडिया में बातचीत में पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट ने बताया कि प्रायः संस्थाएं, समूह व लोग उन अधिकांश लोगों को समय के साथ भूल जाते हैं जिनके सम्बल पर उन संस्थाओं, समूहों व लोगों का अस्तित्व स्थापित होता है इसीलिए विगत 74 वर्षों के आजाद हिंदुस्तान में पहली बार मात्र पीडब्ल्यूएस परिवार द्वारा ऐसा अद्वितीय कार्यक्रम तय किया गया है जिसमें प्रत्येक योगदान करने वालो को सहभागी बनाकर वास्तविक लोकतांत्रिक प्रक्रिया के अंतर्गत उनके योगदान को सर्वकालिक अविस्मरणीय बनाया जाएगा।

बता दें कि राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों के मात्र 01ईंट 01रु. व आस्थानुसार स्वेच्छिक योगदान से पीडब्ल्यूएस परिवार श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या परिक्षेत्र के गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में देवालय-शिक्षालय की स्थापना करने जा रहा है जिसका भूमिपूजन-शिलान्यास आगामी पावन पर्व श्रीराम नवमी 2021 को सुनिश्चित है।

 

*क्या है योगदान व सहभागिता संकल्प?*

पीडब्ल्यूएस राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी भैरु सिंह राठौड़ के अनुसार उपरोक्त देवालय-शिक्षालय के स्थापना हेतु योगदान देने वाले प्रत्येक राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिक, संस्था व समूह को सर्वकालिक अविस्मरणीय बनाने हेतु निर्मित सभागार में सभी के नाम, पता, योगदान को शिलापट्ट पर वर्गीकृत व्यवस्थानुसार लेखबद्ध करने के साथ उन्हें पंजीकृत आजीवन सम्मानित सदस्य के रूप में भी सूचीबद्ध किया जाएगा।

 

*योगदान संकल्प की व्यवस्था*

पीडब्ल्यूएस हरियाणा मीडिया प्रभारी लोकेश झां ने बताया कि इस देवालय-शिक्षालय के स्थापना हेतु कोई भी राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिक, संस्था व समूह मात्र 01ईंट 01रु.प्रति सदस्य के योगदान व आस्थानुसार स्वेच्छिक योगदान के रूप में या एक कक्ष व हाल अथवा इससे सम्बंधित किसी भी व्यवस्था में अपना योगदान संकल्प प्रस्तुत कर सकता है।

 

*क्या है खास?*

पीडब्ल्यूएस अयोध्या मण्डल प्रभारी देवी सहाय पाण्डेय के अनुसार इस देवालय-शिक्षालय का एकमात्र उद्देश्य सभी राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिकों का आध्यात्मिक व भौतिक विकास, राष्ट्रभक्तिं के साथ आपसी सौहार्द, सेवा, संकल्प, सहयोग की भावना का विकास, आम जनमानस को एक समान उत्तम शिक्षा व्यवस्था, निर्धन बेसहारा परिवारों की समुचित सहायता व उनके बच्चों को निःशुल्क उत्तम शिक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराना है।

 

*राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी से ही योगदान का रहस्य*

पीडब्ल्यूएस प्रमुख आर के पाण्डेय एडवोकेट के अनुसार पीडब्ल्यूएस परिवार मात्र ऐसे सच्चे राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी नागरिक, संस्था व समूह से योगदान संकल्प स्वीकार करता है जिनके मन, वाणी व कर्म में अपने राष्ट्र हिंदुस्तान के प्रति अपर प्यार हो तथा जिनके जीवन का उद्देश्य वास्तव में समाजहित, जनहित व राष्ट्रहित हो। उन्होंने स्पष्ट किया है कि उपरोक्त से इतर अन्य किसी से भी पीडब्ल्यूएस परिवार कोई भी योगदान स्वीकार ही नही करता।

 

*पीडब्ल्यूएस परिवार का विश्वास*

परमेंदु वेलफेयर सोसाइटी (पीडब्ल्यूएस परिवार) के सभी दायित्वधारियों, सदस्यों एवं इससे जुड़े समर्थकों का अटूट विश्वास है कि इस संगठन द्वारा परम शक्ति धाम गोरसरा शुक्ल (बस्ती) में स्थापित होने जा रहे देवालय से सामाजिक व शिक्षालय से राष्ट्रीय वैचारिक महाक्रान्ति अवश्य होगी तथा इस आस्था के आदर्श केंद्रीय व्यवस्था देवालय-शिक्षालय से ऐसे भ्रष्टाचारमुक्त राष्ट्रभक्त हिंदुस्तानी आत्मनिर्भर नागरिकों का निर्माण होगा जोकि अखण्ड भारत वर्ष को आत्मनिर्भर विश्वगुरु भारत बनाने में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देंगे।

Related Articles

Leave a Reply

error: Content is protected !!
Close